Breaking :
||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद

चतरा में दादा-पोते की संदिग्ध मौत, शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम

पुलिस ने चतरा जिले के सिमरिया थाना क्षेत्र के गोठाइ गांव के पास से संदिग्ध हालत में दो व्यक्तियों के शव बरामद किए हैं। शव मिलने की खबर मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गई। मृतक आपस में दादा और पोते हैं। दादा का नाम सुरेश साहू और पोते का नाम सोनू कुमार है। मृतक दादा और पोता लावालौंग थाना क्षेत्र के लमटा गांव के रहने वाले हैं।

मिली जानकारी के अनुसार बुधवार को दोनों मोटरसाइकिल पर जबरा गांव गए थे। सुरेश साहू की बेटी जबरा गांव में रहती है। बेटी से मिलने के बाद दामाद से मिलने की बारी आई। बगरा मोड़-लावालौंग के रास्ते में एक दामाद का होटल है। दादा और पोते ने होटल में नाश्ता किया और शाम करीब पांच बजे बाइक से लमटा गांव के लिए निकले। लेकिन देर रात तक दोनों घर नहीं पहुंचे। सुबह परिजनों को गोठाइ गांव के पास एक पेड़ के नीचे दोनों के शव मिलने की सूचना मिली।

इधर दादा-पोते की संदेहास्पद मौत के बाद ग्रामीणों ने हत्यारे की गिरफ्तारी और 25 लाख मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम कर दिया। जाम की सूचना पर पहुंचे सीओ व थाना प्रभारी से वार्ता के बाद जाम हटाया गया।

पुलिस अधिकारियों ने आशंका जताई है कि बारिश से बचने के लिए दादा-पोता पेड़ के पास खड़े रहे होंगे और इसी क्रम में वज्रपात हुई होगी। जिससे दोनों की मौत हो गई।

पूर्व अध्यक्ष अमित चौबे ने बताया कि सुरेश साहू एक साधारण व्यक्ति थे। उसकी गांव में किसी से कोई दुश्मनी नहीं थी। संभव है कि वज्रपात से दोनों की मौत हो गई हो। लेकिन चेहरे पर मारपीट के निशान थोड़ा संदेह पैदा कर रहे हैं।

सिमरिया थाना प्रभारी ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद पूरी स्थिति साफ हो सकेगी।