Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
झारखंड

जेएमएम और कांग्रेस में फूट के संकेत ! जानिए स्वास्थ्य मंत्री बनना गुप्ता ने क्या कहा ?

JMM-Congress Split

हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अच्छा होगा की वो मंत्री मंडल से ही इस्तीफा दे दें

कांग्रेस के चिंतन शिविर ने एक तरह से हेमंत सरकार को सीधे तौर पर चिंता में ला खड़ा कर दिया है. चिंतन शिविर में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता अपने ही सरकार पर हमलावर हो गए. उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार झारखंड में कांग्रेस के वजूद को खत्म करने पर तुली हुई है. बता दें कि स्वास्थ्य मंत्री ने ये बातें कांग्रेस के चिंतन शिविर के अंतिम दिन हिंदी भाषा को लेकर कही. उन्होंने कहा कि हेमंत सरकार देश के मातृ भाषा हिंदी को हीं राज्य के रीजनल सूची से हटाने को लेकर निर्णय लेने वाली है. यदि सरकार ऐसा करती है तो सीधे तौर पर कांग्रेस का वजूद राज्य में खत्म हो जाएगा.

उन्होंने कहा कि हिंदी भाषा को लेकर हेमंत सरकार जो फैसला लेने वाली है, उसके कारण झारखंड में कांग्रेस का अस्तित्व खत्म होना तय है. स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब पार्टी ही नही बचती है तो फिर उनके हेमंत सरकार में उनके रहने का कोई औचित्य हीं नहीं है. स्वास्थ मंत्री बन्ना गुप्ता ने चिंतन शिविर के दौरान कांग्रेस के राज्य प्रभारी समेत 147 प्रतिनिधि के बीच हेमंत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि अच्छा होगा की वो मंत्री मंडल से ही इस्तीफा दे दें, क्योंकि जब हेमंत सरकार कांग्रेस के अस्तित्व को खत्म करने को लेकर उतारू है तो सरकार में रहना उनके लिए संभव नहीं. उन्होंने कहा कि हमें ये तय करना होगा कि हमारा सिद्धांत और विचारधारा कभी कमजोर न हो. राष्ट्रभाषा के साथ और जनता के सम्मान के साथ कभी समझौता नहीं किया जा सकता.

शिविर के संबोधन के दौरान स्वास्थ मंत्री ने अपने विधानसभा का हवाला देते हुए कहा की उन्होंने मेहनत के बाद अपने विधानसभा जमशेदपुर से एक लाख वोट हासिल कर चुनाव जीता है. इसी वोटर को हेमंत सरकार ऐसे फैसले लेकर कांग्रेस के वोटर को अपने तरफ खींचने में लगी हुई है.

JMM-Congress Split

Image source – twitter


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *