Breaking :
||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद||लातेहार में PLFI के दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, ठेकेदारों को फोन पर देते थे धमकी||पलामू: JJMP के सब जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, खोले कई चौंकाने वाले राज||लातेहार: अनियंत्रित बोलेरो ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, दो युवकों की मौत, चार की हालत नाजुक||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प

रांची हिंसा के आरोपी की जमानत याचिका हाईकोर्ट ने कर दी खारिज

रांची : झारखंड हाई कोर्ट के जज जस्टिस गौतम चौधरी की कोर्ट ने सोमवार को रांची हिंसा के मुख्य आरोपी की जमानत याचिका खारिज कर दी। आरोपी मोहम्मद माज को कोर्ट ने नियमित जमानत देने से इनकार कर दिया है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद मोहम्मद माज की जमानत अर्जी खारिज कर दी। आरोपी मोहम्मद माज की ओर से हाईकोर्ट के अधिवक्ता फैज उर रहमान ने अपना पक्ष न्यायालय में रखा। वहीं, राज्य सरकार की ओर से पेश अधिवक्ता विनीत वशिष्ठ ने मोहम्मद माज की जमानत याचिका का पुरजोर विरोध किया।

गौरतलब है कि रांची में 10 जून को नमाज के बाद उपद्रवियों ने हिंदू धार्मिक स्थलों समेत सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाया था। इसके बाद पुलिस ने हिंसा में शामिल आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। फिलहाल पूरे मामले की जांच सीआईडी कर रही है।