Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

IAS पूजा सिंघल के व्हाट्सएप चैट से रांची डीसी भी सवालों के घेरे में!

रांची : IAS पूजा सिंघल के व्हाट्सएप चैट से रांची डीसी भी खनन पट्टा मामले में फंसते नजर आ रहे हैं। पूजा सिंघल ने अगस्त 2021 में खनन विभाग का कार्यभार संभाला था। पत्थर खदान का पट्टा देने में खनन विभाग की कोई भूमिका नहीं है। इसकी पूरी जिम्मेदारी डीसी की होती है। डीसी की सहमति के बाद ही माइनिंग लीज ली जा सकेगी। जैसा कि सीएम हेमंत सोरेन के साथ हुआ।

रांची डीएमओ ने 10 जून 2021 को लीज जारी किया था। जिसे 30 जुलाई 2021 को मंजूरी दी गई थी। जब जारी किए गए लाइसेंस को रद्द करने की प्रक्रिया शुरू होती है, तो पूजा सिंघल की भूमिका दिखाई देती है। ईडी की जांच में आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल के मोबाइल से कई गोपनीय जानकारियां मिली हैं। ईडी की जांच में व्हाट्सएप चैट में लीज रद्द करने का ड्राफ्ट भी मिला है। पूजा सिंघल को 4 अगस्त 2021 को खान सचिव का प्रभार मिला है।

पदभार ग्रहण करने के बाद खान सचिव के पद पर पट्टा निरस्तीकरण का प्रारूप भेजा गया। ईडी ने निलंबित आईएएस पूजा सिंघल का मोबाइल जब्त कर केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला, दिल्ली भेज दिया है। मोबाइल की जांच से जुड़ी रिपोर्ट मिलने के बाद नए खुलासे हो रहे हैं।

ईडी ने गुरुवार को पाकुड़ के एमओ प्रदीप कुमार और दुमका के एमओ कृष्ण चंद्र किस्कू से पूछताछ की। एमओ के साथ आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल, सीए सुमन कुमार सिंह और अभिषेक झा से भी पूछताछ की गई। सभी एमओ से आईएएस अधिकारी के सामने पूछताछ की गई।

ईडी के मुताबिक, चार जिला खनन अधिकारियों के भ्रष्टाचार में शामिल होने की जानकारी मिली है। चार जिलों के एमओ अधिकारियों और सफेदपोशों तक अवैध खनन का पैसा पहुंचाया है।