Breaking :
||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश||पलामू: हार्डकोर इनामी माओवादी नीतेश के दस्ते का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार||लातेहार: 65 हेली ड्रॉपिंग बूथ के लिए शुभकामनायें लेकर मतदान कर्मी रवाना||KIDZEE लातेहार के बच्चों ने मतदाताओं से की अपील- पहले मतदान, फिर कोई काम||पलामू में शौच के लिए निकली नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म, चार आरोपी गिरफ्तार||लातेहार अनुमंडल क्षेत्र में चुनाव के मद्देनजर चार जून तक धारा 144 लागू
Sunday, May 19, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

राष्ट्रपति चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगरमी तेज, अमित शाह से मिले मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन

सीएम हेमंत सोरेन ने कल गृह मंत्री अमित शाह और नेता प्रतिपक्ष मल्लिका अर्जुन खड़गे से मुलाकात की. जिसके बाद वो रांची लौटे. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति चुनाव में किसे समर्थन देना है उस पर शिबू सोरेन घोषणा करेंगे. अभी इसके लिए वक्त है

रांची : राष्ट्रपति चुनाव को लेकर राजनीतिक सरगरमी तेज है. सीएम हेमंत सोरेन ने सोमवार को गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात की. वहीं दूसरी ओर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से फोन पर बात की. तबीयत खराब होने के कारण सोनिया गांधी से उनकी मुलाकात नहीं हो सकी.

वहीं, मंगलवार को विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के रूप में यशवंत सिन्हा ने नामांकन दाखिल किया. उनके नामांकन में झामुमो का कोई सांसद या विधायक मौजूद नहीं था. इधर, मुख्यमंत्री श्री सोरेन ने दिल्ली में राज्यसभा में प्रतिपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से भी मुलाकात की. श्री खड़गे से मिल कर राजनीतिक परिस्थिति पर चर्चा की है.

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आज शिबू सोरेन से बात कर देंगे जानकारी :

सोमवार की रात दस बजे मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन रांची लौट आये. रांची पहुंचने पर श्री सोरेन ने कहा कि जहां तक चीजें चल रही है, उनको रहने दीजिए. बाकी जो होगा ब्रेक के बाद. उन्होंने कहा कि मंगलवार को झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन से मिलेंगे. उन्हें दिल्ली में अमित शाह व मल्लिकार्जुन खड़गे से हुई बातचीत की जानकारी देंगे. इसके बाद राष्ट्रपति चुनाव में झामुमो किसे समर्थन देगा यह निर्णय शिबू सोरेन लेंगे. वहीं दूसरी ओर एनडीए ने झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया है.

आदिवासी चेहरा होने के साथ श्रीमती मुर्मू का रिश्ता झारखंड से रहा है़ आदिवासी चेहरा होने से झामुमो का स्वाभाविक झुकाव द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में है. सूचना के मुताबिक, झामुमो राष्ट्रपति चुनाव में सर्वसम्मति बनाने के पक्ष में है.

एक दिन पहले झामुमो ने दी थी सफाई :

पिछले दिनों झामुमो सांसदों व विधायकों की बैठक में पार्टी ने साफ किया था कि गृहमंत्री श्री शाह से मुलाकात कर बात रखी जायेगी. विधायकों ने राजनीतिक परिस्थिति को देखते हुए द्रौपदी मुर्मू के पक्ष में जाने की बात कही थी, लेकिन उससे पहले गृहमंत्री से मिलकर मुद्दों पर बात करने की सहमति बनी थी.

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

अभी समय है, राजनीतिक परिस्थिति देख कर निर्णय होगा : सुप्रियो

झामुमो के वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि राष्ट्रपति चुनाव में अभी समय है. सीएम ने गृहमंत्री अमित शाह से मिल कर राज्य के मुद्दों पर बात की है. राजनीतिक परिस्थिति को देखकर निर्णय लिया जायेगा. अभी परिस्थितियां बदलेंगी. सही समय पर जानकारी दी जायेगी़

झामुमो से वैचारिक गठबंधन, साथ मिलेगा : ठाकुर

रांची. कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने यशवंत सिन्हा के नामांकन में झामुमो के दूर रहने पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि देश में विचारधारा की लड़ाई चल रही है. गोड्से और गांधी की विचारधारा की लड़ाई है. झामुमो वैचारिक रूप से एक नेचुरल साथी है. यशवंत सिन्हा विपक्ष के साझा उम्मीदवार हैं. इनकी उम्मीदवारी को लेकर हुई बैठक में झामुमो शामिल हुआ था. यशवंत सिन्हा सुयोग्य प्रत्याशी हैं. झारखंड से उनका गहरा रिश्ता रहा है.

गृह मंत्री से सरना धर्मकोड के मुद्दे पर भी हेमंत सोरेन ने बात की

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने गृहमंत्री श्री शाह से सरना धर्मकोड के मुद्दे पर भी चर्चा की. सीएम ने गृहमंत्री को बताया कि आदिवासी समाज वर्षों से सरना धर्मकोड की मांग कर रहा है. उनकी भावना को देखते हुए प्रस्ताव केंद्र को भेजा गया है. केंद्र सरकार को विचार करना चाहिए. श्री शाह के साथ राज्य की विधि-व्यवस्था व नक्सली समस्याओं पर भी चर्चा हुई.