Breaking :
||लातेहार: बूढ़ा पहाड़ इलाके में नक्सलियों द्वारा छिपाये गये अत्याधुनिक हथियार व अन्य सामान बरामद||रांची हिंसा मामले में डीसी ने 11 आरोपियों पर मुकदमा चलाने की मांगी अनुमति||धनबाद आशीर्वाद टावर फायर मामले में हाई कोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, सरकार से पूछा- अबतक क्या की गयी कार्रवाई||चाईबासा: IED ब्लास्ट में एक बार फिर तीन जवान घायल, एयरलिफ्ट कर लाया गया रांची||लातेहार: बालूमाथ में सड़क हादसे में घायल युवक की इलाज के दौरान मौत, 17 फरवरी को होनी थी शादी||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन

लोहरदगा : रामनवमी जुलूस पर हुए पथराव के बाद अगले आदेश तक इंटरनेट सेवा बंद, 144 लागू

रामनवमी के अवसर पर लोहरदगा के हीराही-हेंदलसो-कुजरा गांव के सीमा पर हुई हिंसा और आगजनी को देखते हुए अगले आदेश तक इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है। साथ ही किसी भी प्रकार के धार्मिक आयोजन, धार्मिक अनुष्ठान को अनुमंडल पदाधिकारी द्वारा अगले आदेश तक तत्काल प्रभाव से रद्द कर दिया गया है।

कई गांवों में लगा कर्फ्यू, जुलूस निकालने पर रोक

इस घटना के बाद जहां मौके पर जिला प्रशासन कैंप किये हुए है. वहीं, जिले के लोहरदगा थाना अंतर्गत हिरही गांव, कुजरा, कुर्से और आसपास के गांवों में कर्फ्यू लगा दिया है. अनुमंडल दंडाधिकारी अरविंद कुमार लाल के हस्ताक्षर से जारी आदेश के तहत बताया गया कि लोहरदगा के इन गांवों में 5 से अधिक लोगों के एक जगह इकट्ठा होने पर मनाही है. वहीं, किसी भी व्यक्ति द्वारा लाठी समेत घातक हथियार लाने और ले जाने पर प्रतिबंध लगाया गया है. इस दौरान सिख समुदाय के लोगों को धार्मिक प्रतीक स्वरूप कृपाल धारण करने की छूट दी गयी है, वहीं बुजर्ग समेत दिव्यांग जनों को सहारे के लिए छड़ी या लाठी का प्रयोग करने पर छूट दी गयी है. इसके अलावा अगले आदेश तक धार्मिक सभा, धार्मिक अनुष्ठान समेत धार्मिक जुलूस निकालने पर रोक लगायी गयी है.

पथराव में कई लोग घायल

जानकारी के अनुसार, कुजरा की ओर से रामनवमी की शोभायात्रा आ रही थी. इस बीच कब्रिस्तान के पास दूसरे समुदाय के कुछ लोगों द्वारा नारेबाजी नहीं करने की बात कही गयी. इस बीच कुछ लोगों ने शोभायात्रा में शामिल लोगों पर पथराव कर दिया. घटना में कई लोग घायल हो गये. घायलों में शंकर भगत, मंटू राम, नागेश्वर पांडेय, भोला नाथ सिंह, आशीष कुमार सिंह, रितिक वर्मा, नीरज चौधरी, मोहन प्रसाद साहू शामिल हैं.

दो घर, दुकान और वाहनों में आग लगायी

पथराव के बाद दो घरों के साथ मेला में पहुंचे ठेला, मिठाई दुकान और ऑटो तथा बाइक में आग लगा दी गयी. घटना के बाद पुलिस प्रशासन भोक्ता बगीचा में कैंप कर रहा है. पुलिस प्रशासन द्वारा दोनों पक्षों को शांत कराने की दिशा में कार्रवाई की जा रही है. डीसी डॉ वाघमारे प्रसाद कृष्ण ने कहा कि अभी वह घटनास्थल पर हैं और पूरे घटनाक्रम पर प्रशासन की नजर है. फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है.

इसे भी पढ़ें :- त्रिकूट पर्वत पर हुए दुर्घटना में अब भी फंसे हैं 48 लोग, रेस्क्यू में लगे सेना के हेलीकॉप्टर

घटना के बाद अफरा-तफरी, कई को लगी चोट

पत्थरबाजी में घायल हुए लोगों ने बताया कि परंपरागत रूप से हेसल कुजरा व कुरसे समेत आसपास के गांव की शोभायात्रा जैसे ही 5.30 बजे कब्रिस्तान पार कर आगे बढ़ने लगी, उसी दौरान पत्थरबाजी कर दी गयी. घायलों ने बताया कि कुछ असामाजिक तत्वों ने पत्थरबाजी के साथ लाठी-डंडे और धारदार हथियार से वार करना शुरू कर दिया. इस घटना के बाद अफरा-तफरी मच गयी. कई लोगों को गंभीर चोट लगी है, जिन्हें बेहतर इलाज के लिए रिम्स रांची रेफर कर दिया गया. इधर, सदर अस्पताल में घायलों का इलाज डीएस डॉ शंभूनाथ चौधरी द्वारा किया गया.

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें