Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

खूंटी : कुख्यात एरिया कमांडर लाका पाहन को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया

झारखंड पुलिस को बुधवार सुबह एक बड़ी कामयाबी मिली है। पीएलएफआई के एरिया कमांडर लाका पाहन पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया है। पुलिस को सूचना मिली थी कि पीएलएफआई के एरिया कमांडर लाका पाहन अपने दस्ते के साथ खूंटी के मुर्हू इलाके में आया है । इस सूचना के आधार पर पुलिस ने तलाशी अभियान शुरू किया। ऑपरेशन के दौरान हुइम में पुलिस और लाका पाहन दस्ते के बीच मुठभेड़ हुई। दावा किया जा रहा है कि मुठभेड़ में लका पाहन मारा गया. हालांकि, लाका पाहन का दस्ता भागने में सफल हो जाता है। मुठभेड़ में पुलिस ने एक हथियार भी बरामद किया है।

इसे भी पढ़ें :- सिन्दूर देने से पहले दुल्हन का वीडियो हुआ वायरल, दूल्हे ने शादी से किया इंकार

मुठभेड़ में मारे गए एरिया कमांडर लाका पाहन के खिलाफ पचास से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से करीब 40 मामले खूंटी जिले के विभिन्न थानों में दर्ज हैं। बुधवार सुबह मुठभेड़ में लाका पाहन के मारे जाने के बाद पुलिस ने उसकी पत्नी को हिरासत में लेकर पूछताछ सुरु कर दी है।

इसे भी पढ़ें :- पलामू : सड़क हादसे में दो की मौत, दो घायल

जानकारी के अनुसार खूंटी में आयोजित आदिवासी मेला छऊ नृत्य का आयोजन किया गया था। उसी मेले में शामिल होने के लिए वह मुरहू के कोटा गांव आया हुआ था। बताया जा रहा है कि लाका के खिलाफ जल्द ही पुलिस इनाम की घोषणा करने वाली थी। इसकी अनुशंसा सरकार के पास भेजी गई थी परन्तु स्वीकृति नहीं मिली थी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

image – file photo