Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से बाइक सवार युवक की मौत समेत बालूमाथ की चार खबरें||झारखंड: आग लगने की सूचना पर ट्रेन से कूदे यात्री, झाझा-आसनसोल यात्रियों के ऊपर से गुजरी, 12 की मौत||राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पहुंचीं रांची, सेंट्रल यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में हुईं शामिल, कहा- दुनिया की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की राह पर भारत||झारखंड में बिजली हुई महंगी, नयी दरें एक मार्च से होंगी लागू||झारखंड में बड़े पैमाने पर BDO की ट्रांसफर-पोस्टिंग, यहां देखें पूरी लिस्ट||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट
Thursday, February 29, 2024
झारखंडपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार पहुंचे झारखंड के राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन, कहा- ग्रामीणों के लिए हमेशा खुला है राजभवन का दरवाजा

Jharkhand Governor Latehar tour

भारत का विकास करना है तो गावों से विकास करना होगा : राज्यपाल

लातेहार : झारखंड के राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन गुरुवार को लातेहार सदर प्रखंड के उदयपुरा और मतनाग गांव में ग्रामीणों के साथ सीधा संवाद किया। राजकीयकृत उत्क्रमित उच्च विद्यालय, उदयपुरा में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि मैं भी तमिलनाडु के छोटे से गांव से आता हूँ। मैं ग्रामों की परिस्थितियों को अच्छी तरह समझ सकता हूँ। इसलिए आप सबकी समस्याओं को निकट से जानने के लिए आप सबके मध्य आया हूँ।

ग्रामीणों के लिए हमेशा खुला है राजभवन का दरवाजा

उन्होंने कहा कि मेरा मानना है कि गाँव जाने पर ही वहाँ की वास्तविक स्थिति की जानकारी प्राप्त हो सकती है। झारखंड के राज्यपाल के रूप में शपथ लेने के समय ही कहा था कि राज भवन लोगों तक पहुंचेगा। आप लोग कभी भी अपनी समस्याओं को लेकर राजभवन आ सकते हैं, राजभवन का द्वार सभी के लिए खुला है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

यदि भारत का विकास करना है तो गावों से विकास करना होगा

राज्यपाल ने कहा कि हमें विभिन्न विविधताओं के बावजूद विकास के लिए एकजूट होकर कार्य करने पर ध्यान देना होगा। हम सभी को एक स्वर में प्रशासन के समक्ष अपनी समस्याओं को रखना होगा। उन्होंने कहा कि यदि भारत का विकास करना है तो ग्रामों से विकास करना होगा। यदि हमारे गाँव विकसित होंगे तो प्रखंड विकसित होंगे, प्रखंड विकसित होंगे तो जिला विकसित होंगे, जिला विकसित होंगे तो राज्य विकसित होंगे और राज्य विकसित होंगे तो देश विकसित होगा।

भारत विश्व की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश

उन्होंने कहा कि भारत विश्व की 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला देश है। 1998 के पूर्व देश में भूखमरी की समस्या देखने को मिलती थी, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की सोच थी कि देश से भूखमरी का उन्मूलन हो। हर्ष का विषय है कि 1998 के बाद देश में भूखमरी की समस्या देखने को नहीं मिली। कोरोना महामारी के प्रतिकूल प्रभाव के कारण विश्व के अन्य देशों में महंगाई बढ़ी, लेकिन हमारे देश में माननीय प्राधानमंत्री जी के व्यापक पहलों से गरीब से गरीब व्यक्ति तक अनाज पहुंचाया गया और भूखमरी की समस्या देश में कहीं नहीं होने दिया गया।

समस्या हो तो जिला प्रशासन के समक्ष जाकर निर्भीकतापूर्वक अपनी बात रखें

उन्होंने कहा कि लोग विभिन्न योजनाओं का लाभ लें, समस्याएं हों तो जिला प्रशासन के समक्ष जाकर निर्भीकतापूर्वक अपनी बात रखें। माताओं-बहनों के जीवन को अच्छा करने के उद्देश्य से केन्द्र सरकार व राज्य सरकार द्वारा विभिन्न योजनाएँ संचालित हैं। उज्ज्वला योजना के तहत हर घर तक गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया जा रहा है। एक समय था कि गैस शहरों तक सीमित था, अब सर्वसुलभ है। माताएँ व बहनों को अब खाना बनाने में समय की बचत होती है जिससे वे बच्चों पर अधिक ध्यान दे सकती हैं। उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास है कि उदयपुरा के लोगों को केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं का लाभ प्राप्त हो, उनके जीवन- स्तर में सुधार हो।

परिसंपत्तियों का वितरण व उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को किया सम्मानित

इस अवसर पर राज्यपाल द्वारा लाभुकों के मध्य विभिन्न योजनान्तर्गत परिसंपत्तियों का वितरण भी किया गया। राज्यपाल ने मैट्रिक परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया तथा उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की।

नीलाम्बर-पीताम्बर जैसे विभूतियों के संघर्ष का ही प्रतिफल है कि आज हमारे देश की अर्थव्यवस्था ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था से आगे है- राज्यपाल

अर्थव्यवस्था का ही परिणाम है कि गांव में विकास की किरणें पहुँच रही हैं – राज्यपाल

सदर प्रखंड के मतनाग गांव में ग्रामीणों के साथ संवाद के दौरान राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन ने कहा कि यह वीर नीलाम्बर-पीताम्बर की भूमि है, जिन्होंने ब्रिटिश हुकूमत से देश की स्वतंत्रता हेतु संघर्ष किया। वीर नीलाम्बर-पीताम्बर का साहस व राष्ट्र के प्रति समर्पण अविस्मरणीय है। उनके जैसे विभूतियों का संघर्ष का ही प्रतिफल है कि आज हमारे देश की अर्थव्यवस्था ब्रिटेन की अर्थव्यवस्था से आगे है।

गांव में पहुँच रहीं विकास की किरणें

उन्होंने कहा कि देश की इस अर्थव्यवस्था का ही परिणाम है कि गांव में विकास की किरणें पहुँच रही हैं। गाँव-गाँव में निःशुल्क गैस कनेक्शन प्रदान किया जा रहा है। इस अर्थव्यवस्था का ही परिणाम है कि प्रधानमंत्री जी द्वारा किसानों को हर वर्ष उनके खाते में 6000 की राशि सीधे दी जा रही है। लोगों को विभिन्न योजनान्तर्गत पेंशन मिल रहा है, चिकित्सा सुविधा हेतु केन्द्र एवं राज्य सरकार की स्वास्थ्य योजना संचालित हैं। आने वाले वर्षों में हर किसी का अपना छत होगा। राज्य में कस्तूरबा गाँधी आवासीय विद्यालय, उत्कृष्ट विद्यालय के साथ एकलव्य विद्यालय आदि मौजूद हैं। झारखंड में 68 एकलव्य विद्यालय स्वीकृत किये गये हैं जो पूरे देश में किसी भी राज्य की तुलना में सबसे अधिक है।

राज्यपाल ने कहा कि हम लोग विभिन्न क्षेत्र के हो सकते हैं, विभिन्न भाषा के हो सकते हैं लेकिन बात ग्राम के विकास की हो तो सबको एक होना होगा।

बच्चों को शिक्षित करने में ही सच्ची सफलता

उन्होंने कहा कि जमीन-जायदाद व धन-दौलत की वृद्धि से कुछ नहीं होगा। अपने बच्चों को शिक्षित करने में ही सच्ची सफलता है, इसलिए आप सभी अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करें। ड्राप-आउट की समस्या नहीं होनी चाहिए, उन्हें उच्च शिक्षा हासिल कराने हेतु आपको प्रयत्नशील रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि वे राज्य में स्थापित विश्वविद्यालयों को भ्रष्टाचारमुक्त करने की दिशा में प्रयासरत हैं। उच्च शिक्षण संस्थानों में आधारभूत संरचनाएं विकसित की जा रही हैं।

नीलाम्बर-पीताम्बर की प्रतिमा पर माल्यार्पण

राज्यपाल ने आज लातेहार-पलामू मार्ग अवस्थित नीलाम्बर-पीताम्बर तोरण द्वार में शहीद नीलाम्बर-पीताम्बर के स्मारक स्थल में पूजा-अर्चना की एवं वहाँ अवस्थित नीलाम्बर-पीताम्बर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धा-सुमन अर्पित की।

धनबाद बिजली पोल हादसे में मृतक के परिजनों को दी मुआवजा राशि

इससे पूर्व लातेहार आगमन पर राज्यपाल को गार्ड ऑफ ऑनर देकर सम्मानित किया गया। इसके बाद परिसदन में धनबाद में हुए बिजली के पोल हादसे में मृत संजय भुइयां और दिनेश भुइयां के परिजनों को मुआवजे की राशि प्रदान की। रिंकी देवी, पति- स्व दिनेश भुईयाँ एवं पूर्णिमा देवी, पति- स्व संजय राम को अपने विवेकाधीन अनुदान मद से 1-1 लाख का चेक, बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर आवास योजना एवं मुख्यमंत्री राज्य निराश्रित महिला सम्मान पेंशन योजना का लाभ प्रदान किया गया। विदित हो कि धनबाद रेलमंडल में निचितपुर हॉल्ट के पास पोल खड़ा करने के क्रम में दिनेश भुईया एवं संजय राम की मृत्यु हो गयी थी।

इस दौरान उपायुक्त भोर सिंह यादव, पलामू आईजी राजकुमार लकड़ा, पुलिस अधीक्षक अंजनी अंजन, वन प्रमंडल पदाधिकारी रोशन कुमार समेत अन्य जिला स्तरीय पदाधिकारी व कर्मी उपस्थित थे।

उदयपुरा में परिसंपत्तियों को वितरण

उदयपुरा ग्राम में आयोजित कार्यक्रम में राज्यपाल द्वारा विभिन्न योजनाओं से संबंधित परिसंपत्तियों का वितरण किया गया। जिला समाज कल्याण विभाग के तहत एक लाभुक के बीच ट्राई साइकिल वितरण किया गया। एवं एक लाभुक के बीच कन्यादान योजना की स्वीकृति दी गयी। सामाजिक सुरक्षा के तहत दो लाभुकों के बीच मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन योजना का स्वीकृति पत्र प्रदान किया गया। मनरेगा के तहत बिरसा हरित ग्राम आम बागवानी योजना का स्वीकृति पत्र, बिरसा सिंचाई कूप संवर्धन योजना के तहत कूप निर्माण का स्वीकृति पत्र दिया गया। जेएसएलपीएस के तहत 2 लाभुकों को सीएलएफ पंजीकरण प्रमाण पत्र का वितरण किया गया। 20 सखी मंडल को बैंक क्रेडिट लीकेज 50 लाख का चेक वितरण किया गया। दो लाभुकों को अंबेडकर आवास का स्वीकृति पत्र, दो लाभुकों को मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना अंतर्गत ऋण स्वीकृति पत्र वितरित किया गया। दो लाभुकों को कृषि ऋण माफी दो लाभुकों को केसीसी ऋण स्वीकृति दी गयी।

मतनाग में परिसंपत्तियों का वितरण

मतनाग ग्राम में आयोजित कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल द्वारा विभिन्न योजनाओं से संबंधित परिसंपत्तियों का वितरण किया गया। जिला समाज कल्याण विभाग के तहत एक लाभुक के बीच ट्राई साइकिल वितरण किया गया। एक लाभुक के बीच कन्यादान योजना की स्वीकृति, दो लाभुकों को सेविका चयन पत्र दी गयी। सामाजिक सुरक्षा के तहत तीन लाभुकों के बीच मुख्यमंत्री राज्य वृद्धावस्था पेंशन योजना का स्वीकृति पत्र प्रदान किया गया। मनरेगा के तहत बिरसा सिंचाई कूप संवर्धन योजना के तहत कूप निर्माण, दीदी बाड़ी निर्माण का स्वीकृति पत्र दिया गया। जेएसएलपीएस के तहत एक लाभुक को सीएलएफ पंजीकरण प्रमाण पत्र का वितरण किया गया। 21 सखी मंडल की दीदियों को बैंक क्रेडिट लीकेज 43.5 लाख का चेक वितरण किया गया। तीन लाभुकों को अंबेडकर आवास का स्वीकृति पत्र, दो लाभुकों को मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना अंतर्गत ऋण स्वीकृति पत्र वितरित किया गया। दो लाभुकों को कृषि ऋण माफी, चार लाभुकों को केसीसी ऋण स्वीकृति दी गयी।

इस दौरान राज्यपाल द्वारा विभिन्न विभागों द्वारा लगाये गये स्टॉल का अवलोकन किया गया।

Jharkhand Governor Latehar tour