Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

रांची में फर्जी आधार कार्ड और पैन कार्ड बनाकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश, बिहार से जुड़े तार

रांची: राजधानी में फर्जी आधार कार्ड और पैन कार्ड बनाकर बैंकों में खाता खोलकर ठगी करने वाले गिरोह का पर्दाफाश हुआ है। रांची पुलिस ने आम लोगों का डाटा चोरी कर फर्जी पैन कार्ड व आधार कार्ड बनाने के धंधे में शामिल गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने कई बैंकों की पासबुक, एक दर्जन आधार कार्ड और पैन कार्ड बरामद किए हैं।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

यह गिरोह आम लोगों का आधार और पैन की डेटा चोरी कर फर्जी आधार और पैन बनाने की धोखाधड़ी में शामिल था।

रांची सिटी के डीएसपी दीपक कुमार ने बताया कि लालपुर थाना क्षेत्र के हरिओम टावर स्थित एयरटेल कंपनी से लालपुर पुलिस को सूचना मिली थी कि दो लोग उनकी दुकान पर आए हैं और फर्जी आधार कार्ड देकर सिम लेने की कोशिश कर रहे हैं। मामले की जानकारी मिलते ही लालपुर पुलिस की टीम तुरंत एयरटेल स्टोर पहुंची और नितिन और आदर्श को गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में दोनों ने बताया कि लालपुर इलाके के एक लॉज में कमरा लेकर पिछले दो महीने से रांची में रह रहे थे। दोनों ने लॉज में रहने के लिए फर्जी आधार कार्ड का भी इस्तेमाल किया था। वह लॉज में रहकर लोगों का डाटा चुराकर आधार और पैन कार्ड तैयार करता था। आधार और पैन कार्ड में नाम और पता पूरी तरह से ओरिजिनल था, बस तस्वीर बदली गई थी।

इस मामले में रांची की लालपुर पुलिस ने बिहार के जहानाबाद निवासी नितिन मौर्य और आदर्श कुमार को गिरफ्तार किया है। इन दोनों के पास से 11 आधार कार्ड, पैन कार्ड, छह मोबाइल, लैपटॉप, कई सिम कार्ड और अलग-अलग नामों से बनाए गए फर्जी दस्तावेजों के आधार पर खोले गए बैंकों के पासबुक बरामद हुए हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पूछताछ के दौरान दोनों जालसाजों ने पुलिस को बताया है कि उन्होंने सैकड़ों फर्जी पैन कार्ड और आधार कार्ड बनाए हैं। वह पटना में फर्जी दस्तावेज भी सप्लाई करता है। वहां एक बड़ा गिरोह सक्रिय है जो बैंक में खाता खोलकर कर्ज लेने का काम करता है। इस गिरोह ने लोगों को पेट्रोल पंप दिलाने के नाम पर लाखों रुपये की ठगी की है। जल्द ही लालपुर पुलिस की एक टीम बिहार जाएगी और मामले की जांच करेगी।