Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Thursday, May 23, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

जानी-मानी महिला से IAS पूजा सिंघल की WhatsApp चैट से हो सकते हैं बड़े खुलासे, ED ने किया तलब

रांची : गरीबों की दुर्दशा से शुरू हुआ मनरेगा घोटाला अब सफेदपोशों तक पहुंच रहा है। अधिकारियों से शुरू हुई कहानी कहीं न कहीं समाजसेवियों और नेताओं तक पहुंच रही है। यही वजह है कि ईडी की जांच सिर्फ मनरेगा घोटाले तक ही सीमित नहीं रह गई है, जबकि इसका अंत राज्य के अन्य घोटालों तक पहुंच गया है। अब ईडी के निशाने पर झारखंड सरकार के खान एवं उद्योग विभाग का भ्रष्टाचार है, जिसे लेकर संबंधित अधिकारियों पर जांच कड़ी की जा रही है।

खबर है कि पूजा सिंघल की सूबे की एक नामी महिला से हुई व्हाट्सएप चैट ने ईडी की रिसर्च टीम को खान एवं उद्योग विभाग में घुसने का रास्ता दिखा दिया है। जिस महिला से पूजा सिंघल ने व्हाट्सएप पर चैट की है, उस महिला का भी खनन के क्षेत्र में जबरदस्त नियंत्रण है और वहां का हर पत्ता भी उसी महिला के इशारे पर चलता है। अब हर महीने करोड़ों रुपये खनन विभाग में खर्च हो रहे हैं और ईडी के निशाने पर हैं, जिनकी जड़ें खोदने लगी हैं. इसकी शुरुआत खनन अधिकारियों से होती है, जिन्हें ईडी ने पूछताछ के लिए रांची बुलाया है।

मनी लॉन्ड्रिंग के तहत गिरफ्तार आईएस पूजा सिंघल के खिलाफ रिसर्च कर रहा प्रवर्तन निदेशालय सोमवार (16 मई) को तीन जिलों के जिला खनन अधिकारी से पूछताछ करेगा. इसके लिए उन्हें तलब किया गया है। जिन लोगों को तलब किया गया है उनमें साहिबगंज जिला खनन अधिकारी विभूति कुमार, दुमका जिला खनन अधिकारी कृष्णचंद्र किस्कू और पलामू जिला खनन अधिकारी आनंद कुमार शामिल हैं।

इसे भी पढ़ें :- नहीं रहे ऑस्ट्रेलिया के पूर्व क्रिकेटर एंड्रयू साइमंड्स

पहले चरण में इन तीनों जिलों के जिला खनन अधिकारी से पूछताछ करनी है। इसके बाद ईडी की टीम अन्य जिलों के खनन अधिकारियों से भी पूछताछ करेगी। खनन पट्टा आवंटन और अवैध खनन के मामले में उनसे पूछताछ की जानी है। इसके बदले में उन्हें कितना पैसा मिला और यह पैसा कहां-कहां तक पहुंचा।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

आईएएस पूजा सिंघल और उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट से रिमांड पर पूछताछ के दौरान ईडी को जानकारी मिली है कि अवैध खनन का पैसा ऊपर तक पहुंचता था। ईडी को इस बात की जानकारी मिली है कि वे ऊपर कहां पहुंचते थे। आईएएस पूजा सिंघल झारखंड राज्य खनिज विकास निगम की प्रबंध निदेशक का पद भी संभाल चुकी हैं। इस दौरान ईडी को भारी मात्रा में अवैध धन के लेन-देन का पता चला है, जिसके सत्यापन के लिए जिला खनन अधिकारियों से ही पूछताछ करनी है।।

झारखंड में मुख्य विपक्षी दल भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके परिवार के सदस्यों पर लगातार अवैध खनन के आरोप लगते रहे हैं। हाल के दिनों में साहिबगंज में पत्थर के चिप्स ले जा रहे एक मालवाहक जहाज के गंगा में डूबने के बाद से पूरा इलाका चर्चा में है। विपक्ष ने सत्ताधारी पार्टी पर अवैध खनन का आरोप लगाया है।