Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

धनबाद जेल में अमन सिंह की हत्या मामले में हाईकोर्ट ने लिया स्वत: संज्ञान, आईजी को कोर्ट में पेश होने का निर्देश

रांची : झारखंड हाई कोर्ट ने सोमवार को धनबाद जेल में गैंगस्टर अमन सिंह की हत्या के मामले पर स्वत: संज्ञान लिया। हाई कोर्ट ने इस मामले में जेल आईजी को मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये कोर्ट में पेश होने का निर्देश दिया है।

कोर्ट ने इस मामले की सुनवाई मंगलवार को सूचीबद्ध करने का निर्देश दिया है। साथ ही राज्य सरकार की ओर से पेश अधिवक्ता को सरकार से निर्देश लेने का निर्देश दिया है। धनबाद जेल में हत्या से जुड़ी खबर पर कोर्ट ने संज्ञान लिया है। इस मामले की सुनवाई चीफ जस्टिस संजय कुमार मिश्रा की बेंच करेगी। सोमवार को राज्य सरकार की ओर से वकील पीयूष चित्रेश ने कोर्ट को बताया कि सरकार ने मामले की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है और वरिष्ठ अधिकारियों की एक टीम मौके पर जाकर जांच कर रही है।

धनबाद जेल में बंद शूटर अमन सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। वह पूर्व मेयर नीरज सिंह हत्याकांड में जेल में बंद था। सूचना मिलते ही धनबाद डीसी, एसएसपी समेत तमाम वरीय अधिकारी जेल पहुंचे और जांच शुरू की। जेल के अंदर शूटर अमन सिंह को तीन गोलियां मारी गयीं।

गौरतलब है कि जिले के व्यवसायियों, उद्योगपतियों व अन्य व्यवसायियों से रंगदारी मांग कर दहशत फैलाने के आरोपी अमन सिंह को सजा दिलाने में धनबाद पुलिस एक बार फिर विफल रही। धनबाद पुलिस एक बार फिर कोर्ट में अमन सिंह के खिलाफ आरोप साबित करने में सफल नहीं रही, जिसके कारण कोर्ट ने उसे बरी कर दिया। इससे पहले भी कई मामलों में पुलिस अमन सिंह के खिलाफ कोर्ट में कोई ठोस सबूत पेश नहीं कर सकी थी, जिसके कारण कई मामलों में अमन सिंह बरी हो गया था।