Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

10 रुपये में धोती-साड़ी बांट रही हेमंत सरकार, आप भी ले सकते है इस योजना का लाभ

रांची : झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार अतिरिक्त राशन कार्ड उपलब्ध कराने के साथ ही सोना सोबरन धोती साड़ी योजना के तहत गरीबों को रियायती दरों पर कपड़े उपलब्ध करा रही है। इस योजना से झारखंड के लाखों बीपीएल धारक लाभान्वित हो रहे हैं। सरकार ने योजना के लिए 500 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है। इस योजना के तहत लाभार्थियों को साल में दो बार धोती/लुंगी, साड़ी 10 रुपये में दी जा रही है।

सरकार ने योजना के तहत राज्य के 57.11 लाख परिवारों को लाभान्वित करने का लक्ष्य रखा है। लक्ष्य का पीछा करते हुए राज्य सरकार ने योजना के तहत 56,49,817 पात्र लाभार्थियों को कवर किया है। योजना के प्रथम चरण में 41,42,745 धोती/लुंगी, साड़ियाँ वितरित की गई हैं, जिनमें से 34,29,817 धोती, 53,47,787 साड़ियाँ एवं 19,11,909 लूंगी वितरित की जा चुकी हैं।

मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों को इस योजना की जानकारी देकर ग्रामीणों को लाभान्वित करने के निर्देश दिये हैं। राशन दुकानदारों को शिविर लगाकर कपड़े बांटने का आदेश दिया गया है ताकि सभी को योजना का लाभ मिल सके। दो साल के कार्यकाल में सरकार ने कई योजनाएं शुरू की हैं। इन सभी योजनाओं को बहुत तेजी से क्रियान्वित किया जा रहा है। इसी कड़ी में धोती-साड़ी वितरण योजना को फिर से शुरू कर दिया गया है।

झारखंड सरकार द्वारा सोना-सोबरन धोती-साड़ी वितरण योजना के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत आने वाले राज्य में अंत्योदय अन्न योजना के सभी पात्र परिवार और लाभार्थी परिवार, झारखंड राज्य खाद्य के लाभार्थी परिवारों के अलावा सुरक्षा योजना। मंत्रिपरिषद की बैठक में दिया गया।

झारखंड राज्य खाद्य सुरक्षा योजना में लाभार्थियों की अधिकतम निर्धारित सीमा 15 लाख है। वर्तमान में राज्य खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत 13,04,093 लाभार्थी एवं 4,38,989 परिवार हैं। इस आधार पर यदि 15 लाख हितग्राही हैं तो परिवारों की संख्या 5,05,050 होने की संभावना है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अन्तर्गत आने वाले हितग्राहियों की अधिकतम संख्या 2,64,25,385 है, जिसके अन्तर्गत संभावित संख्या परिवार 58,97,561 हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

सोना सोबरन धोती साड़ी योजना