Breaking :
||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर

गुमला: नक्सली साले की अंतिम संस्कार में शामिल होने आये जीजा की पीट-पीटकर हत्या

गुमला : घाघरा थाना क्षेत्र के टोटाम्बी गांव में दो लाख का इनामी नक्सली दिलबर नायक की बीमारी से मौत के बाद उनके अंतिम संस्कार में पहुंचे उनके जीजी नंदलाल नायक (40) की अज्ञात अपराधियों ने लाठियों, डंडों और पत्थरों से मार डाला।

सबूत छिपाने के इरादे से शव को टोटांबी बांध में चटाई से लपेट कर फेंक दिया गया। लेकिन गुरुवार को बांध के ऊपर आते ही ग्रामीणों की नजर उस पर पड़ी। इसके बाद ग्रामीणों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस ग्रामीणों की मदद से मौके पर पहुंची और शव को बांध से बाहर निकाला।

इधर, शव को बाहर निकालने के बाद पुलिस ने देखा कि मृतक का चेहरा कुचला हुआ है। इससे उसकी पहचान करना मुश्किल हो रहा था लेकिन मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने कपड़े से शव की पहचान नंदलाल नायक के रूप में की।

नंदलाल के चेहरे के अलावा शरीर के अन्य हिस्सों पर चोट के निशान हैं। इस वजह से उसकी हत्या किए जाने की प्रबल संभावना थी। ग्रामीणों ने बताया कि नंदलाल परिवार के साथ चैनपुर प्रखंड स्थित ईंट भट्ठे में काम करता था।

पिछले रविवार को अपने जीजा नक्सली दिलबर नायक की मौत के बाद वह उसके अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए अकेले टोटांबी गांव पहुंचा था, जबकि उसकी पत्नी और बच्चे ईंट भट्ठे में रुके हुए थे।

प्रथम दृष्टया पुलिस का यह भी मानना ​​है कि आपसी विवाद के बाद नंदलाल की हत्या की गई है। शव को चटाई में लपेटकर बांध में फेंक दिया गया। जांच के दौरान गांव की पुलिस ने नंदलाल के कुछ परिचितों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ कर रही है।

इस संबंध में एसडीपीओ मनीष चंद्र लाल ने कहा कि जल्द ही घटना का खुलासा किया जाएगा। साथ ही पुलिस जल्द ही अपराधियों को गिरफ्तार करेगी।