Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Saturday, March 2, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

झारखंड के पारा शिक्षकों के बीच मतभेद, एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा भंग

रांची : स्थायी एवं सेवा शर्त नियमों को लेकर चल रहे आंदोलन को गति देने के लिए विभिन्न पारा शिक्षकों की यूनियनों को मिलाकर गठित एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा को भंग कर दिया गया है।

मोर्चा के संयोजक विनोद बिहारी महतो ने झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद के निदेशक किरण कुमार पासी को लिखित जानकारी दी है। अब होने वाली बैठकों में उन्होंने विभिन्न समूहों के नाम पत्र जारी कर संबंधित यूनियनों के पदाधिकारियों को बुलाने का अनुरोध किया है।

इसके साथ ही महतो ने अपने पत्र में झारखंड राज्य सहयोगी शिक्षक संघ के अध्यक्ष विनोद तिवारी को बताते हुए उनके नाम से पत्र जारी करने का अनुरोध किया है। जबकि मोर्चे में शामिल इस संघ के अध्यक्ष ऋषिकेश पाठक थे। इसको लेकर विवाद हो सकता है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इधर, सामुदायिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष विनोद बिहारी महतो ने कहा है कि यदि भविष्य में कोई आंदोलन शुरू हुआ तो मोर्चा बनाया जाएगा।