Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

देवघर रोपवे हादसा : सभी फंसे हुए लोगों को निकाला गया, 3 की हुई मौत

देवघर रोपवे हादसा

देवघर जिला के मोहनपुर प्रखंड के त्रिकुट पहाड़ पर बने रोपवे में फंसे सभी फंसे लोगों को रेस्क्यू कर लिया गया है. रविवार की शाम चार बजे से फंसे लोगों को रेस्क्यू करने में दो दिनों का समय लग गया. सोमवार को करीब 32 लोगों को रेस्क्यू शाम तक किया गया था. अंधेरा होने की वजह से सोमवार को रेस्क्यू का काम रोक दिया गया था. मंगलवार को अहले सुबह से रेस्क्यू का काम फिर से शुरू किया गया था. एक बजे तक रेस्क्यू का काम पूरा कर लिया गया. सभी 13 लोगों को सुरक्षित निकाल लिया गया.

हालांकि मंगलवार को रेस्क्यू के दौरान एक महिला (शोभा देवी)  हादसे का शिकार हो गयी. अस्पताल पहुंचने के बाद डॉक्टर ने महिला को मृत घोषित कर दिया. रेस्क्यू का काम एयरफोर्स, इंडियन आर्मी, एनडीआरएफ, आईटीबीपी और जिला प्रशासन ने मिलकर किया. रेसक्यू करने में एयरफोर्स के एमआई-17 हेलिकॉप्टर की अहम भूमिका रही. कुल मिलाकर 45 लोगों को रेस्क्यू किया गया.

तीन की मौत, हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान

मामले को लेकर एक तरफ जहां सीएम हेमंत सोरेन ने उच्चस्तरीय जांच की बात की है. वहीं दूसरी तरफ हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस ने मामले पर स्वतः संज्ञान लिया है. चालीस घंटे तक फंसे सभी लोगों को रेस्क्यू के बाद जिला के सदर अस्पताल में भर्ती किया गया है. हालांकि हादसे के वक्त ही एक महिला की मौत हो गयी थी. वहीं रेस्क्यू के दौरान एक 48 वर्षीय शख्स राकेश मंडल की मौत हेलिकाप्टर से गिर जाने की वजह से हो गयी. आज फिर रेस्क्यू के दौरान एक महिला की मौत हो गई. मृतक के परिजनों को मुआवजे के लिए देवघर में लोगों ने सड़क जाम कर दिया है. जिसे प्रशासन हटाने की कोशिश कर रहा है.

क्या है मामला

बीते रविवार की शाम त्रिकूट रोपवे जैसे डाउन स्टेशन से चालू हुआ, तो पहाड़ की चोटी पर स्थित रोप-वे के यूटीपी स्टेशन का रॉलर अचानक टूट गया. इस कारण सबसे पहले ऊपर का एक ट्रॉली 40 फीट नीचे खाई में गिर गयी, जिसमें पांच लोग सवार थे. स्थानीय लोग व रोप-वे कर्मी ने मिलकर उस ट्रॉली में फंसे पांचों को बाहर निकाला. इस हादसे के दौरान रोप-वे की बाकी 23 ट्रॉली सात फीट नीचे अचानक लटक गयी. इसमें सबसे नीचे की दो ट्रॉली पत्थर से जोरदार ढंग से टकरा गयी.

इसे भी पढ़ें :- बालूमाथ: आपसी विवाद में पति ने पत्नी की धारदार हथियार से की हत्या, फरार

इन दोनों ट्रॉलियों में सवार सभी लोग बुरी तरह घायल हो गये. इस घटना के बाद नीचे ऑफिस में कार्यरत रोप-वे के प्रबंधन के सभी कर्मी व अधिकारी भाग निकले. सूचना मिलने के बाद डीसी मंजूनाथ भजंत्री, एसपी सुभाष चंद्र जाट व एनडीआरएफ की टीम पहुंची. करीब तीन घंटे के बाद मेंटेनेंस रोप-वे को चालू किया गया. खराबी के कारण शुरू में मेंटेनेंस रोप-वे का चालू नहीं किया जा सका था. इसके बाद बचाव-कार्य चालू किया जा सका. गौरतलब हो कि त्रिकुट पहाड़ की लंबाई 848 मीटर है. यह झारखंड का एकमात्र और देश का सबसे ऊंचा रोपवे है जमीन से खड़ी 90 डिग्री के कोण पर यह बना हुआ है. इस पर पहुंचने के लिए एक-एक ट्रॉली में 4-4 लोगों को बैठाकर ऊपर भेजा जाता है.

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

देवघर रोपवे हादसा

देवघर रोपवे हादसा