Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

किसान की गर्भवती बेटी को ट्रैक्टर से कुचलने के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन

हजारीबाग के इचाक में रिकवरी एजेंटों की बर्बरता के खिलाफ शुक्रवार को लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। नूरा रोड स्थित महिंद्रा फाइनेंस कंपनी के ऑफिस के पास लोगों ने मोनिका के पार्थिव शरीर के साथ प्रदर्शन किया।

इधर, मामले के आरोपी समेत महिंद्रा फाइनेंस के कर्मचारी व अधिकारी शुक्रवार को कार्यालय बंद कर गायब रहे।

आपको बता दें कि गुरुवार को एक किसान से ट्रैक्टर की बकाया किस्त की वसूली के दौरान उसकी तीन माह की गर्भवती बेटी मोनिका को वसूली एजेंट ने उसी ट्रैक्टर ने कुचल कर मार डाला था।

किसान मिथिलेश मेहता ने महिंद्रा फाइनेंस के रोशन सिंह के खिलाफ बेटी मोनिका की मौत पर फाइनेंस कर्मियों पर हत्या का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इधर धरना के दौरान मौके पर पहुंचे पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने कहा कि अगर कंपनी के लोग भागते रहे तो यहां के जनप्रतिनिधि सामूहिक रूप से उग्र विरोध करेंगे। उन्होंने पुलिस से आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने की भी मांग की।

मोनिका का अंतिम संस्कार शुक्रवार को ससुराल में किया गया। गर्भवती होने के कारण पति कुलदीप की जगह उसके ससुर झमन प्रसाद मेहता ने आग लगा दी। इस दुखद अवसर पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

मोनिका की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है, लोग नाराज भी हैं। सदर विधायक मनीष जायसवाल का कहना है कि ऐसे लोगों को रोकना प्रशासन की जिम्मेदारी है। कानून को हाथ में लेकर अगर कोई जमा करने जाता है तो वह बिना किसी सूचना के किसी ग्राहक तक कैसे पहुंच जाता है।

गौरतलब है कि इस तरह की वसूली पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। इसके बाद भी कंपनी के लोग कैसे काम करते हैं?

रास्ते में किसी की गाड़ी ले जाना, जबरन वसूली करना गुंडागर्दी नहीं तो और क्या है। उन्होंने कहा कि पुलिस मोनिका की हत्या के आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करे, नहीं तो हम उग्र आंदोलन करने को मजबूर होंगे।

वहीं सांसद जयंत सिन्हा ने कहा कि यह बेहद दुखद घटना है। सभी आरोपितों को तत्काल जेल भेजा जाए। पुलिस को गिरफ्तार करें और आरोपी को शीघ्र सुनवाई के तहत सजा दिलवाएं।