Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Thursday, May 30, 2024
झारखंड

किसान की गर्भवती बेटी को ट्रैक्टर से कुचलने के आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर प्रदर्शन

हजारीबाग के इचाक में रिकवरी एजेंटों की बर्बरता के खिलाफ शुक्रवार को लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। नूरा रोड स्थित महिंद्रा फाइनेंस कंपनी के ऑफिस के पास लोगों ने मोनिका के पार्थिव शरीर के साथ प्रदर्शन किया।

इधर, मामले के आरोपी समेत महिंद्रा फाइनेंस के कर्मचारी व अधिकारी शुक्रवार को कार्यालय बंद कर गायब रहे।

आपको बता दें कि गुरुवार को एक किसान से ट्रैक्टर की बकाया किस्त की वसूली के दौरान उसकी तीन माह की गर्भवती बेटी मोनिका को वसूली एजेंट ने उसी ट्रैक्टर ने कुचल कर मार डाला था।

किसान मिथिलेश मेहता ने महिंद्रा फाइनेंस के रोशन सिंह के खिलाफ बेटी मोनिका की मौत पर फाइनेंस कर्मियों पर हत्या का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी दर्ज कराई है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

इधर धरना के दौरान मौके पर पहुंचे पूर्व सांसद भुवनेश्वर प्रसाद मेहता ने कहा कि अगर कंपनी के लोग भागते रहे तो यहां के जनप्रतिनिधि सामूहिक रूप से उग्र विरोध करेंगे। उन्होंने पुलिस से आरोपी को तुरंत गिरफ्तार करने की भी मांग की।

मोनिका का अंतिम संस्कार शुक्रवार को ससुराल में किया गया। गर्भवती होने के कारण पति कुलदीप की जगह उसके ससुर झमन प्रसाद मेहता ने आग लगा दी। इस दुखद अवसर पर बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

मोनिका की मौत ने सभी को झकझोर कर रख दिया है, लोग नाराज भी हैं। सदर विधायक मनीष जायसवाल का कहना है कि ऐसे लोगों को रोकना प्रशासन की जिम्मेदारी है। कानून को हाथ में लेकर अगर कोई जमा करने जाता है तो वह बिना किसी सूचना के किसी ग्राहक तक कैसे पहुंच जाता है।

गौरतलब है कि इस तरह की वसूली पर हाईकोर्ट ने रोक लगा दी है। इसके बाद भी कंपनी के लोग कैसे काम करते हैं?

रास्ते में किसी की गाड़ी ले जाना, जबरन वसूली करना गुंडागर्दी नहीं तो और क्या है। उन्होंने कहा कि पुलिस मोनिका की हत्या के आरोपी को जल्द से जल्द गिरफ्तार करे, नहीं तो हम उग्र आंदोलन करने को मजबूर होंगे।

वहीं सांसद जयंत सिन्हा ने कहा कि यह बेहद दुखद घटना है। सभी आरोपितों को तत्काल जेल भेजा जाए। पुलिस को गिरफ्तार करें और आरोपी को शीघ्र सुनवाई के तहत सजा दिलवाएं।