Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

सीएम ने वन क्षेत्र से 5 किमी के दायरे में स्थित सभी आरा मिलों को हटाने का दिया निर्देश

रांची : सीएम हेमंत सोरेन ने वन विभाग के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है, जिसमें राज्य में 1996 से पहले वन क्षेत्र से 5 किमी के दायरे में संचालित आरा मिलों को नियमित करने का अनुरोध किया गया था। इसी क्रम में सीएम ने वन विभाग को यह सुनिश्चित करने के आदेश दिए हैं कि वन क्षेत्र से पांच किलोमीटर के दायरे में आने वाली सभी आरा मिलों को जल्द से जल्द हटाया जाए।

अवैध कटाई पर लगाम लगाएगी फैसला

सीएम के इस फैसले का दूरगामी असर झारखंड राज्य के जंगलों और पर्यावरण पर आने वाले दिनों में दिखेगा. इससे जंगलों में लकड़ी की अवैध कटाई पर रोक लगेगी। साथ ही वन्य जीवों, जंगलों और वनस्पतियों की रक्षा की जाएगी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

अवैध आरा मिलों पर कार्रवाई शुरू

वन विभाग ने देवघर जिले के सारथ व सरवन प्रखंड स्थित चार अवैध रूप से संचालित आरा मिलों में छापेमारी कर बड़ी मात्रा में सागौन की लकड़ी जब्त की है। साथ ही इन आरा मिलों को वन विभाग ने पूरी तरह से ध्वस्त कर दिया है।