Breaking :
||लातेहार में पांच लाख का इनामी भाकपा माओवादी सब जोनल कमांडर गिरफ्तार, हार्डकोर नक्सली छोटू खरवार के दस्ते का करता था नेतृत्व||मुख्य सचिव पद से हटाये गये सुखदेव सिंह, एल खियांग्ते को मिली जिम्मेदारी||ED के बुलावे पर नहीं आये साहिबगंज एसपी नौशाद आलम||पलामू: नाबालिक से दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार, पूरे परिवार को गोली मारने की दी थी धमकी||नक्सलियों के 15 लाख रुपये नॉन बैंकिंग कंपनियों में जमा कराने के आरोपी को हाईकोर्ट से मिली जमानत, बालूमाथ थाने में दर्ज हुआ था मामला||The News Sense की खबर का असर, बालूमाथ में ग्रामीण सड़क से नहीं हुई कोयले की ढुलाई, ग्रामीणों ने ली राहत की सांस, दिया साधुवाद||झारखंड में भी दिखने लगा साइक्लोन मिचॉन्ग का असर, राज्य के इन हिस्सों में हो सकती है बारिश, इस दिन तक छाये रहेंगे बादल||सरकार ने बरवाडीह के तत्कालीन बीडीओ व मधुपुर के तत्कालीन सीओ को दी निंदन की सजा||पुलिस को चकमा देकर रिम्स से फरार कैदी शाकिब पत्नी के साथ गिरफ्तार||लातेहार: नियमों की अनदेखी कर बालूमाथ में ग्रामीण सड़क से हो रही कोयले की ढुलाई, सैकड़ों बच्चे स्कूल जाने से वंचित
Wednesday, December 6, 2023
झारखंडरांची

जोहार नहीं माफी यात्रा निकालें मुख्यमंत्री : दीपक प्रकाश

रांची : भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने गुरुवार को मुख्यमंत्री की जोहार यात्रा पर तीखी प्रतिक्रिया दी। प्रकाश ने कहा कि ठगबंधन के नेताओं को मुख्यमंत्री के नेतृत्व में खतियानी जोहार नहीं, बल्कि माफी यात्रा निकालने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि आखिर राज्य की जनता इनका अभिनंदन और जोहार क्यों करेगी। आखिर इस सरकार ने जनता को दिया क्या है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने कहा कि क्या राज्य में सत्ता के संरक्षण में सिर से पैर तक फैले भ्रष्टाचार के लिए जनता इनका अभिनंदन करे? क्या युवाओं को प्रतिवर्ष पांच लाख नौकरी और बेरोजगारी भत्ता नहीं देने के लिए इनका अभिनंदन करे? क्या किसानों को धान खरीदी नही करने, पुरानी लाभकारी योजनाओं को बंद करने के लिए जोहार करे? क्या महिलाओं बेटी बहनों के साथ दुष्कर्म का रिकॉर्ड बनाने, घरों में जलाकर मार दिये जाने के लिए अभिनंदन करे।

प्रकाश ने कहा कि दरअसल भाजपा के द्वारा गांव गांव में सरकार की विफलताओं और उसके खिलाफ किये गये जोरदार प्रदर्शन, आंदोलन से यह सरकार पूरी तरह डर चुकी है। इसलिए ये नये नये छलावा लेकर जनता को दिग्भ्रमित करने में जुट गये हैं। उन्होंने कहा कि जिस उपलब्धि को लेकर ये ढिंढोरा पीटने जा रहे हैं उसे खुद राज्य सरकार ने कानूनी पेचीदगियों में फंसा दिया है। इससे स्पष्ट है कि यह केवल दिखाने का दांत है। जनता को कोई लाभ देने की मंशा हेमंत सरकार की नही है।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को अपने सहयोगी दलों के साथ जनता से घूम घूम कर माफी मांगनी चाहिए। ऐसे झारखंड की जनता इनकी नीति और नीयत को समझ चुकी है और अवसर आने पर जवाब देने के लिए भी तैयार है।