Breaking :
||लातेहार: अब मनिका के डुमरी में दिखा आदमखोर तेंदुआ, गांव में मचा कोहराम, घर में दुबके लोग||लातेहार: किडजी प्री स्कूल में “विद्यारंभ संस्कार” का आयोजन, अभिभावक आमंत्रित||रांची: 10 लाख का इनामी PLFI सब जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप गिरफ्तार||राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मचारियों को करेंगे सम्मानित||आईईडी ब्लास्ट में फिर एक जवान घायल, लाया गया रांची||लातेहार जिले के लिए गौरव भरा पल…राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर राज्यपाल ने डीसी को किया सम्मानित||पलामू में अंतरराज्यीय गिरोह के नौ अपराधी गिरफ्तार, दो करोड़ की रंगदारी मांगने सहित आधा दर्जन मामलों का खुलासा||25 लाख के इनामी माओवादी नवीन यादव ने किया आत्मसमर्पण, 100 से अधिक बड़े नक्सली हमलों में रहा है शामिल||मतदाता सूची सुधार एवं आधार प्रमाणीकरण कार्य में लातेहार जिला झारखंड में अव्वल, डीसी होंगे सम्मानित||पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया PLFI का एरिया कमांडर, हथियार बरामद

लोहरदगा में रामनवमी जुलूस में पथराव के बाद हुई हिंसा में चंदवा के युवक की मौत

लातेहार : रामनवमी के दिन लोहरदगा जिले के हरही गांव में रामनवमी के जुलूस में पथराव के बाद हुई हिंसा में चंदवा प्रखंड के एक व्यक्ति की जान चली गयी। उसकी पहचान बोदा पंचायत के रहमत नगर निवासी अमान अंसारी के रूप में हुई है।

अमान की मौत की सूचना के बाद परिजनों का हाल बेहाल है। गांव में मातम जैसा सन्नाटा है। प्रशासन को इसकी भनक लगते ही प्रखंड प्रशासन व जिला प्रशासन के आला अधिकारी सोमवार सुबह से ही गांव में डेरा डाले हुए हैं।

अनुमंडल पदाधिकारी शेखर कुमार, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संतोष कुमार मिश्र, बीडीओ विजय कुमार, पुलिस निरीक्षक आशुतोष कुमार के अलावे सीआरपीएफ के अधिकारी भी बोदा गांव में जुटे हुए हैं। ग्रामीण मृतक के परिजनों को तत्काल नगद राशि सहयोग के रूप में देने की मांग कर रहे थे।

इसे भी पढ़ें :- झारखंड में शिक्षकों की नियुक्ति का रास्ता साफ, हाईकोर्ट ने दिया आदेश

ग्रामीण व परिजनों से बात करते हुए अनुमंडल पदाधिकारी श्री कुमार ने कहा कि तत्काल मृतक के चारों बच्चियों का नामांकन कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में कराया जाएगा। विधवा पेंशन के रूप में तत्काल स्वीकृति दी जाएगी। जन वितरण प्रणाली की मदद से तत्काल परिजनों को 1 क्विंटल खाद्यान्न की मदद दी गई है।

हालांकि ग्रामीण नौकरी की मांग कर रहे थे। इस पर आला अधिकारियों ने कहा कि वे सभी कागजी प्रक्रिया पूरी कर उच्च अधिकारियों को नौकरी की प्रक्रिया के लिए प्रेषित कर देंगे। हर हाल में पीड़ितों को न्याय मिलेगा, दोषी को सजा मिलेगी।

इसे भी पढ़ें :- कुख्यात मानव तस्कर महिला ने किया सरेंडर, एक लाख था इनाम

ग्रामीणों की माने तो मृतक अमान अंसारी पिता सलामत अंसारी अपने भतीजे मोहम्मद, वसीम पिता मन्नान अंसारी के साथ एक पुरानी बाइक एवं दवा लेने लोहरदगा के चंदलासो गया था। ये लोग लोहरदगा टोरी ट्रेन की मदद से उक्त गांव गए थे। वहां से वे बाइक लेकर सड़क मार्ग से लौट रहे थे।

इसी क्रम में हरही गांव में रामनवमी जुलूस के दौरान पथराव व हिंसा भड़की थी। उक्त लोग कुजरा गांव पहुंचे थे। यहां अज्ञात हमलावरों ने इन दोनों पर हमला कर दिया। दोनों बुरी तरह घायल हो गए थे।

लातेहार की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

पुलिस की मदद से दोनों को बेहतर इलाज के लिए रिम्स भेजा गया था। यहां इलाज के दौरान अमान की मौत हो गई। मृतक के भाई कलाम अंसारी ने नौकरी व अन्य सरकारी मदद हेतु जिला प्रशासन को आवेदन दिया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें