Breaking :
||IPL 2024 शुरू होने से पहले ही विकेटकीपर बल्लेबाज रॉबिन मिंज सड़क दुर्घटना में घायल||स्पेनिश महिला पर्यटक से सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों को भेजा गया जेल, पीड़ित दंपति का कोर्ट में बयान दर्ज||लातेहार: मनिका में संदेहास्पद स्थिति में पेड़ से लटका मिला युवक का शव||झारखंड में सात IAS अफसरों का टांस्फर-पोस्टिंग, रमेश घोलप बने चतरा डीसी||गढ़वा जाने के क्रम में लातेहार पहुंचे सीएम चम्पाई सोरेन, कहा- बैद्यनाथ राम को मंत्री बनाने पर फैसला जल्द||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक
Sunday, March 3, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

मांडर के पूर्व विधायक बंधु तिर्की के आवास पर 9 घंटे तक चली सीबीआई की छापेमारी, मिले कई अहम दस्तावेज

रांची: सीबीआई की टीम ने मांडर के पूर्व विधायक बंधु तिर्की के बनहोरा और मोराबादी स्थित आवास पर गुरुवार सुबह आठ बजे से शाम चार बजे तक छापेमारी की।

इस छापेमारी के दौरान सीबीआई को कई अहम दस्तावेज मिले हैं. जिसे वह अपने साथ ले गई है। हालांकि छापेमारी के दौरान बंधू तिर्की अपने आवास पर मौजूद नहीं थे। बताया जा रहा है कि तिर्की भाई झारखंड से बाहर हैं।

यह छापेमारी 34वें राष्ट्रीय खेल घोटाले के सिलसिले में हो रही है। इस खेल घोटाले में तत्कालीन खेल मंत्री बंधु तिर्की मुख्य आरोपी हैं। इस सिलसिले में रांची के मोरहाबादी और बनहोरा आवास पर छापेमारी की गई है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

मालूम हो कि इससे पहले एंटी करप्शन ब्यूरो इस मामले की जांच कर रहा था। इस मामले में बंधू तिर्की जेल जा चुके हैं। उनके खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल की गई थी। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने खेल घोटाले में बंधु तिर्की को प्राथमिक आरोपी बनाया था। आय से अधिक संपत्ति के मामले में हाल ही में अदालत ने बंधु तिर्की को तीन साल की सजा सुनाई थी। इस वजह से उनकी विधायिका भी चली गई।

34वें राष्ट्रीय खेलों का आयोजन वर्ष 2011 में 22 फरवरी से 26 फरवरी तक झारखंड में हुआ था। राष्ट्रीय खेल के आयोजन में घोटाले का मामला सामने आया। 28 करोड़ 34 लाख रुपये की हेराफेरी का मामला है। बिना टेंडर के ऊंचे दामों पर खेलकूद का सामान खरीदने समेत कई मामले हैं। मेगा स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स के निर्माण में अनियमितता का मामला सामने आया है। 206 करोड़ की जगह इसका बजट बढ़ाकर 424 करोड़ कर दिया गया।