Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
झारखंडरांची

हेमंत सरकार के खिलाफ भाजपा ने जारी किया आरोप पत्र, कहा- झूठ, लूट और भ्रष्टाचार में बीते तीन साल

रांची : हेमंत सरकार के तीन साल पूरे होने पर गुरुवार को प्रदेश भाजपा ने आरोप जारी की है। पार्टी कार्यालय में इसका विमोचन करते हुए प्रदेश अध्यक्ष व सांसद दीपक प्रकाश ने सरकार से जवाब मांगा है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

उन्होंने कहा कि राज्य में झामुमो, कांग्रेस और राजद के नेतृत्व वाली सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है। राज्य प्रायोजित भ्रष्टाचार जारी है। जनता ने मुख्यमंत्री और उनके करीबियों को फायदा होते देखा है। सरकार बताए कि उसका पंकज मिश्रा, अमित अग्रवाल, प्रेम प्रकाश से क्या संबंध है। अमित ने कहीं झारखंड को ही लूटकर ही संपत्ति तो नहीं बना ली है।

उन्होंने कहा कि ट्रांसफर, पोस्टिंग के जरिये अवैध कमाई की जा रही है और कई लोग इसका फायदा उठा रहे हैं। तीन साल से हर मोर्चे पर विफल, झूठ, लूट और भ्रष्टाचार में लिप्त सरकार आज जारी आरोप पात्र का जवाब दें। ये चार्जशीट बीजेपी की नहीं, साढ़े तीन करोड़ लोगों की है। प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले भारत की सोशल मीडिया टीम द्वारा जारी किए गए क्लिप दिखाए गए। इसमें कानून व्यवस्था, भ्रष्टाचार, धर्म परिवर्तन, रोजगार समेत अन्य मुद्दों पर राज्य सरकार को घेरा गया।

प्रकाश ने कहा कि राज्य में लूट पर लूट मची हुई है। सीओ कार्यालय से सचिवालय तक लोग त्रस्त हैं। शराब के मामले में झारखंड को कितना नुकसान हुआ है, सरकार इसे बताए। छत्तीसगढ़ के किस शराब माफिया के कारण झारखंड को राजस्व की हानि हुई है, मुख्यमंत्री बताएं। कोयला, बालू की लूट मची है। बालू तो कालाबाजारी से ही लोगों को मिल रहा। प्रकृति प्रदत्त पानी, पहाड़, पर्वत, खनिज संपदा को लूटने, लुटवाने का कार्य जारी है। वनों की कटाई, खनिज संपदा का अवैध खनन हो रहा। आर्थिक व्यवस्था चरमराई हुई है। गरीबों को आवास, बालू नहीं मिला रहा पर मुख्यमंत्री के काफिले के लिए गाडियां, मंत्रियों के बंगले बनाने को पैसे हैं।

अध्यक्ष ने कहा कि महिला सशक्तिकरण के लिए एक रुपये में लाखों की संपत्ति की रजिस्ट्री पूर्व में होती थी।आपदा से बचने और दूसरे कामों के लिए किसानों को किसान सम्मान निधि का लाभ मिलता था, जिसे इस सरकार ने बंद करा दिया। 1932 के खतियान और नियोजन नीति पर यह सरकार राजनीति करती रही। हर साल पांच लाख युवाओं को रोजगार नहीं तो संन्यास के वादे हुए। सरकार चाहे तो खुद से संकल्प लाकर नियोजन नीति ला सकती थी पर उसकी मंशा ही नहीं। पिछड़ों के हित की बात करने वाली यह सरकार उनकी विरोधी ही है। बगैर आरक्षण के पंचायत चुनाव कराए। नगर निकाय के चुनाव से वह बच रही।

प्रकाश ने कहा कि कानून व्यवस्था के मामले पर भी राज्य में बदतर स्थिति है। पिछले तीन वर्षों में देश में सबसे अधिक आपराधिक घटनाएं (एक लाख 88 हजार से अधिक) इसी राज्य में हुई हैं। 5200 लोगों की हत्या, महिलाओं के खिलाफ अनाचार, दुराचार के 5300 केस, अपहरण की 5200 घटनाएं दर्ज हुई हैं। 50-50 टुकडों में बेटियों, बहनों को काटा जा रहा है। संताल परगना में झामुमो के नेतृत्व में बांग्लादेशी घुसपैठियों को संरक्षण मिल रहा है। डेमोग्राफी बदल रही है। तुष्टिकरण की राजनीति हो रही है।

एक सवाल के जवाब में दीपक प्रकाश ने कहा कि आने वाले रामगढ़ विधानसभा के उपचुनाव में जनता निश्चित तौर पर इस सरकार के खिलाफ आक्रोश जताएगी। गांवों में पंचायत चुनाव में यह दिख चुका है, अब शहरों में भी यह दिखेगा। हेमंत सोरेन के खिलाफ ईडी, सीबीआई जांच के सवाल पर कहा कि कानून अपना काम करेगा ही। अगर किसी ने गलत किया है तो केंद्रीय एजेंसियां अपने स्तर से अपना काम तो करेंगी ही।

प्रेस वार्ता में पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता प्रदीप सिन्हा, मीडिया प्रभारी शिवपूजन पाठक सहित अन्य भी उपस्थित थे।