Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

सहायक अध्यापक मूल्यांकन परीक्षा दिसंबर में, 22 सितंबर से भरे जाएंगे फॉर्म

रांची : राज्य में सहायक अध्यापकों के लिए पहली मूल्यांकन परीक्षा की प्रक्रिया शुरू हो गई है। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के निर्देश पर झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने इस परीक्षा के संबंध में सूचना जारी की है।

इसमें शामिल होने के लिए पारा शिक्षक 22 सितंबर से ऑनलाइन फॉर्म भर सकेंगे। ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि 7 अक्टूबर निर्धारित की गई है। इस परीक्षा से यह पता चल सकेगा कि सरकारी स्कूलों में पढ़ाने वाले पारा शिक्षक कितने कुशल हैं। बच्चों को पढ़ाने में उनके पास किस स्तर की समझ है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

झारखंड एकेडमिक काउंसिल ने परीक्षा की तारीख की घोषणा नहीं की है लेकिन उम्मीद है कि यह परीक्षा दिसंबर के महीने में हो सकती है।

शिक्षा अभियान के तहत गांवों में आम सभा के माध्यम से सभी पारा शिक्षकों का चयन किया गया। उनके लिए कोई परीक्षा नहीं थी। एक तरह से पारा शिक्षक पहली बार राज्य स्तरीय प्रतियोगी परीक्षा में शामिल होंगे। हालांकि झारखंड शिक्षक पात्रता परीक्षा में कई पारा शिक्षक शामिल हुए हैं।

मूल्यांकन परीक्षा में वे पारा शिक्षक शामिल होंगे जिन्होंने शिक्षक पात्रता परीक्षा उत्तीर्ण नहीं की है। इस परीक्षा को पास करने के बाद पारा शिक्षकों के मानदेय में 10 प्रतिशत की वृद्धि की जाएगी।

बता दें कि टेट पास करने वाले पारा शिक्षकों के मानदेय में 50 फीसदी की बढ़ोतरी की गई है। गैर टेट उत्तीर्ण पारा शिक्षकों के मानदेय में मात्र 40 प्रतिशत की वृद्धि की गई।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

असेसमेंट टेस्ट में मैट्रिक और इंटरमीडिएट स्तर पर प्राथमिक और उच्च प्राथमिक कक्षाओं के सहायक अध्यापकों से क्रमशः वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे। इनमें से 70 फीसदी सवाल सरकारी स्कूल के सिलेबस से, 20 फीसदी सवाल टीचिंग स्किल्स से और 10 फीसदी सवाल रीजनिंग और मेंटल एबिलिटी से जुड़े होंगे।

पारा शिक्षकों को असेसमेंट टेस्ट पास करने के लिए अधिकतम चार मौके मिलेंगे। यदि कोई पैरा शिक्षक प्रथम मूल्यांकन परीक्षा में शामिल नहीं होता है, तो यह माना जाएगा कि उसे इस परीक्षा में बैठने का अवसर मिला है। यदि कोई पारा शिक्षक चार चांस लेने के बाद भी यह परीक्षा पास नहीं करता है तो उसे सेवा से नहीं हटाया जाएगा। इस परीक्षा में पास होने के लिए सामान्य वर्ग के पारा शिक्षकों को 40 प्रतिशत और आरक्षित वर्ग के पारा शिक्षकों के लिए 35 प्रतिशत अंक लाना अनिवार्य होगा।

अप्रशिक्षित पारा शिक्षक मूल्यांकन परीक्षा में शामिल नहीं होंगे। झारखंड हाईकोर्ट में अप्रशिक्षित पारा शिक्षकों का मामला चल रहा है। इसमें आदेश आने के बाद ही उन्हें परीक्षा में शामिल करने का निर्णय लिया जाएगा। ऐसे करीब चार हजार पारा शिक्षक कार्यरत हैं। मूल्यांकन परीक्षा में बैठने के लिए तीन वर्ष की सेवा भी अनिवार्य है। हालांकि, राज्य के सभी पारा शिक्षकों ने इससे अधिक समय तक सेवा की है।