Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

शिक्षा मंत्री का ऐलान, पारा शिक्षकों को देनी होगी मूल्यांकन परीक्षा, सभी का शामिल होना अनिवार्य

पारा शिक्षक मूल्यांकन परीक्षा – पास हुए तो मानदेय में होगी 10 प्रतिशत की वृद्धि

रांची : पारा शिक्षकों की मूल्यांकन परीक्षा अगले माह होगी। शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग को इसकी तैयारी के निर्देश दिए हैं। इसी के मद्देनजर सभी जिलों में पारा शिक्षकों के प्रमाणपत्रों के सत्यापन का काम चल रहा है। यह परीक्षा झारखंड एकेडमिक काउंसिल द्वारा आयोजित की जाएगी। हाल ही में लागू सहायक अध्यापक सेवा शर्त नियमावली के तहत सभी पारा शिक्षकों को इस परीक्षा में शामिल होना अनिवार्य होगा।

यदि कोई पारा शिक्षक उपस्थित नहीं होता है, तो यह माना जाएगा कि उसे इस परीक्षा में बैठने का अवसर मिला है। इस परीक्षा को पास करने के लिए पारा शिक्षकों को अधिकतम चार मौके मिलने चाहिए। बता दें कि विभाग की ओर से परीक्षा पैटर्न तैयार कर लिया गया है। यह परीक्षा झारखंड एकेडमिक काउंसिल द्वारा आयोजित की जाएगी, जो झारखंड बोर्ड की परीक्षा आयोजित करती है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरें देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

इस परीक्षा में प्राथमिक और उच्च प्राथमिक दोनों श्रेणी के पारा शिक्षकों से क्रमशः मैट्रिक और इंटरमीडिएट स्तर के वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न पूछे जाएंगे, जिसमें 70 प्रतिशत प्रश्न पाठ्यक्रम से संबंधित होंगे, 20 प्रतिशत प्रश्न शिक्षण कौशल से और 10 प्रतिशत प्रश्न शिक्षण कौशल से संबंधित होंगे. प्रश्न तर्क और मानसिक क्षमता से संबंधित होंगे। .

इस परीक्षा में पास होने के लिए सामान्य वर्ग के पारा शिक्षकों को 40 प्रतिशत और आरक्षित वर्ग के पारा शिक्षकों को 35 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य होगा। यह मूल्यांकन परीक्षा पास करने के बाद ही पारा शिक्षकों के मानदेय में 10 प्रतिशत की वृद्धि होगी।

advt

पारा शिक्षक मूल्यांकन परीक्षा