Breaking :
||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश||पलामू: हार्डकोर इनामी माओवादी नीतेश के दस्ते का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार||लातेहार: 65 हेली ड्रॉपिंग बूथ के लिए शुभकामनायें लेकर मतदान कर्मी रवाना||KIDZEE लातेहार के बच्चों ने मतदाताओं से की अपील- पहले मतदान, फिर कोई काम||पलामू में शौच के लिए निकली नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म, चार आरोपी गिरफ्तार||लातेहार अनुमंडल क्षेत्र में चुनाव के मद्देनजर चार जून तक धारा 144 लागू
Sunday, May 19, 2024
चतरा

झारखंड-बिहार का कुख्यात इनामी अपराधी दिल्ली से गिरफ्तार, गैंग लीडर की हत्या कर खुद बना था गिरोह का मुखिया

चतरा : झारखंड-बिहार का कुख्यात इनामी अपराधी कैलू पासवान गिरोह के विरुद्ध चतरा पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है। बिहार सरकार के 50 हजार के इनामी अपराधी सरगना कैलू पासवान और उसके सहयोगी संतन पासवान को गिरफ्तार किया है। हंटरगंज थाना पुलिस की स्पेशल टीम ने दिल्ली के अलग-अलग इलाकों में छापेमारी कर दोनों को दबोचने में सफलता हासिल की है।

गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने 5 अवैध देशी पिस्टल, .315 बोर का 12 जिंदा अवैध कारतूस, अलग-अलग घटनाओं में प्रयुक्त विभिन्न कंपनियों का 11 सिमकार्ड, दो मोबाइल व घटनाओं में प्रयुक्त टीवीएस अपाची बाइक जब्त की है। बिहार पुलिस ने कैलू पर 50 हजार रुपये के इनाम की घोषणा कर रखी थी।

चतरा एसपी राकेश रंजन ने सोमवार को कैलू पासवान की गिरफ्तारी की पुष्टि की। उन्होंने बताया कि पूछताछ में कैलू ने पुलिस के सामने कई राज खोले हैं। उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में बिहार के औरंगाबाद जिले के दाऊदनगर स्थित एक बैंक से 65 लाख की बैंक डकैती सहित झारखंड-बिहार के चतरा और गया सहित कई अन्य जिलों में हत्या, डकैती और डकैती सहित 29 गंभीर आपराधिक मामले दर्ज किए गए हैं। इन मामलों में दोनों राज्यों की पुलिस लंबे समय से कैलू की तलाश कर रही थी।

एसपी ने कहा कि कैलू झारखंड-बिहार में आपराधिक गिरोह बनाकर छोटी-बड़ी घटनाओं को अंजाम देकर दोनों राज्यों की पुलिस के सामने चुनौती पेश कर रहा है। दो राज्यों की पुलिस के लिए सिरदर्द बने कैलू की गिरफ्तारी से पुलिस ने राहत की सांस ली है।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि साल 2019 में गैंग के सरगना इरशाद मियां की हत्या कर कैलू खुद सरगना बना था। सरगना बनने के बाद वह चतरा के हंटरगंज और प्रतापपुर के अलावा गया जिले के आमस, इमामगंज, गुरुवा, रोशनगंज, बाराचट्टी, शेरघाटी और दाऊदनगर थाना क्षेत्रों में लगातार वारदात को अंजाम देकर दहशत फैलाने में लगा हुआ था।

दिल्ली में छिपा था कैलू

राकेश रंजन ने बताया कि कैलू के खिलाफ अपराधी इरशाद मियां की हत्या के अलावा गया के डोभी थाना क्षेत्र के पशु चिकित्सक संजय पासवान की सुपारी से हत्या, आमस थाना क्षेत्र के आठ लाख रुपये की लूट, 35 हजार हंटरगंज थाना क्षेत्र के आमीन जंगल में रुपये। हंटरगंज थाना क्षेत्र के जयशंकर स्टोन में लूटपाट और फायरिंग समेत 29 मामले दर्ज हैं। इन घटनाओं को अंजाम देने के बाद वह पुलिस कार्रवाई से बचने के इरादे से अपने सहयोगी के साथ दिल्ली में छिपा था।