Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
चतरा

चतरा: NTPC की सहयोगी कंपनी सिम्प्लेक्स तबाह, आंदोलनकारियों ने 50 से अधिक वाहनों को किया आग के हवाले, देखें वीडियो

Chatra Agitation Breaking

चतरा में हुए हिंसा की तस्वीरें और वीडियो आपको विचलित कर सकती हैं। नॉर्थ कर्णपुरा मेगा पावर प्लांट के मुख्य द्वार पर सोमवार को आंदोलनकारियों और पुलिस के बीच हिंसक झड़प हो गई। मंगलवार की सुबह हर तरफ तबाही का मंजर नजर आ रहा है। आगजनी से करोड़ों रुपये का नुकसान हुआ है।

इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि घटना के 15 घंटे बाद भी आग की लपटें दिखाई दे रही हैं। 50 से ज्यादा छोटे-बड़े वाहनों को आंदोलनकारियों ने आग के हवाले कर दिया। उन वाहनों से अभी भी धुआं निकल रहा है।

एनटीपीसी की सहयोगी कंपनी सिम्प्लेक्स पूरी तरह से तबाह हो गई है। आंदोलनकारियों ने कंपनी के कार्यालय को निशाना बनाया है। गाडिय़ों में आगजनी और सहयोगी कंपनी के कार्यालय की वर्तमान स्थिति तबाही की कहानी कह रही है।

न तो जिला प्रशासन और न ही एनटीपीसी प्रबंधन को ऐसी तबाही और बर्बादी की उम्मीद थी। आंदोलनकारियों ने पल भर में ही कंपनी को तहस-नहस कर दिया। परियोजना के समूह महाप्रबंधक मंगलवार सुबह मौके पर पहुंचे।

परिसर के बाहर तबाही देख आश्चर्य व्यक्त किया और चिंता व्यक्त की। उपायुक्त अंजलि यादव और पुलिस अधीक्षक राकेश रंजन मौके पर डेरा डाले हुए हैं।

एनटीपीसी परियोजना की सुरक्षा के लिए अतिरिक्त कर्मियों को तैनात किया गया है। आंदोलनकारियों को पकड़ने के लिए कार्रवाई तेज कर दी गई है। हिंसक झड़प में पुलिस और रैयत सहित कम से कम 28 लोग घायल हुए हैं।

जिसमें पांच की हालत गंभीर बताई जा रही है और उन्हें बेहतर इलाज के लिए रांची रेफर कर दिया गया है। पुलिस अधीक्षक राकेश रंजन ने कहा कि स्थिति पूरी तरह नियंत्रण में है। आंदोलनकारियों की पहचान की जा रही है। इसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया जाएगा।

Chatra Agitation Breaking


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *