Breaking :
||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव

लातेहार: डायनामाइट की चपेट में आने से युवक की मौत, मनिका का था रहने वाला, जांच में जुटी पुलिस

गोपी कुमार सिंह/गारू

लातेहार : जिले के गारू थाना क्षेत्र के कोरवाटोली गांव में दर्दनाक हादसा हुआ है। यहां 25 वर्षीय युवक की डायनामाइट की चपेट में आने से मौत हो गयी। घटना शनिवार शाम की बतायी जा रही है। मृतक की पहचान मनिका थाना क्षेत्र के दुंदु गांव निवासी चलितर सिंह पिता कामेश्वर सिंह के रूप में हुई है।

मृतका की सास रामकली देवी ने बताया कि चलितर सिंह यहां 15-20 दिन से रह रहा था। इस बीच शनिवार को वह डायनामाइट और मोबाइल की बैटरी से कुछ कर रहा था। तभी जोरदार धमाका हुआ, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गयी।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

रामकली देवी ने बताया कि विस्फोट उसके मुंह के अंदर हुआ। इसलिए उसका इलाज कराने का भी समय नहीं मिला और उसकी मौत हो गयी। हालांकि यह स्पष्ट नहीं है कि युवक को डायनामाइट कहां से मिला। पुलिस ने मौके से एक और डायनामाइट बरामद किया है। जिसे पुलिस अपने साथ ले गयी है।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस कोरवाटोली पहुंची, शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए लातेहार सदर अस्पताल भेज दिया। पुलिस घटना के पीछे के कारणों की जांच कर रही है।

इधर, घटना के बाद से परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। जानकर बताते है कि डायनामाइट का उपयोग कोयले और पत्थर की खदानों में किया जाता है। कोयले और पत्थर की खदानों को डायनामाइट से उड़ाया जाता है।