Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ई-मेल से धमकी देने वाला युवक गिरफ्तार

बदायूं : गुजरात एटीएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ई-मेल के जरिए धमकी देने के आरोप में इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट अमन सक्सेना को शनिवार रात यहां गिरफ्तार किया। इसी कड़ी में गुजरात की एक युवती और एक युवक का नाम भी सामने आया है। गुजरात एटीएस भी उनकी तलाश कर रही है। देर रात तक पूछताछ के बाद गुजरात एटीएस अमन को अपने साथ ले गयी।

बदायूं पुलिस के मुताबिक गुजरात एटीएस इंस्पेक्टर वीएन बघेला टीम के साथ रात करीब 10 बजे सिविल लाइन थाने पहुंचे. इसके बाद अमन सक्सेना को स्थानीय पुलिस की मदद से आदर्श नगर से गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री कार्यालय की आईडी पर ई-मेल कर धमकी दी गयी थी।

स्थानीय पुलिस का कहना है कि अमन सक्सेना कुछ समय पहले बरेली के राजर्षि कॉलेज में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था लेकिन उसे अधूरा छोड़ दिया। प्रधानमंत्री को किस मकसद से धमकाया गया, इसकी जांच की जा रही है। गुजरात एटीएस इंस्पेक्टर वीएल बघेला ने अन्य दो आरोपियों के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की।

सिविल लाइन थाने के इंस्पेक्टर सहनसरवीर सिंह ने बताया कि गुजरात एटीएस ने ईमेल की जांच के सिलसिले में अमन सक्सेना को गिरफ्तार किया है। अमन सक्सेना पहले भी लैपटॉप चोरी आदि के आरोप में पकड़ा जा चुका है। उस समय छात्र होने के नाते पुलिस ने लैपटॉप बरामद कर उसे छोड़ दिया था।