Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरदेश-विदेशराष्ट्रीय

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ई-मेल से धमकी देने वाला युवक गिरफ्तार

बदायूं : गुजरात एटीएस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ई-मेल के जरिए धमकी देने के आरोप में इंजीनियरिंग ड्रॉपआउट अमन सक्सेना को शनिवार रात यहां गिरफ्तार किया। इसी कड़ी में गुजरात की एक युवती और एक युवक का नाम भी सामने आया है। गुजरात एटीएस भी उनकी तलाश कर रही है। देर रात तक पूछताछ के बाद गुजरात एटीएस अमन को अपने साथ ले गयी।

बदायूं पुलिस के मुताबिक गुजरात एटीएस इंस्पेक्टर वीएन बघेला टीम के साथ रात करीब 10 बजे सिविल लाइन थाने पहुंचे. इसके बाद अमन सक्सेना को स्थानीय पुलिस की मदद से आदर्श नगर से गिरफ्तार किया गया। पुलिस के मुताबिक कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री कार्यालय की आईडी पर ई-मेल कर धमकी दी गयी थी।

स्थानीय पुलिस का कहना है कि अमन सक्सेना कुछ समय पहले बरेली के राजर्षि कॉलेज में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था लेकिन उसे अधूरा छोड़ दिया। प्रधानमंत्री को किस मकसद से धमकाया गया, इसकी जांच की जा रही है। गुजरात एटीएस इंस्पेक्टर वीएल बघेला ने अन्य दो आरोपियों के बारे में कोई जानकारी साझा नहीं की।

सिविल लाइन थाने के इंस्पेक्टर सहनसरवीर सिंह ने बताया कि गुजरात एटीएस ने ईमेल की जांच के सिलसिले में अमन सक्सेना को गिरफ्तार किया है। अमन सक्सेना पहले भी लैपटॉप चोरी आदि के आरोप में पकड़ा जा चुका है। उस समय छात्र होने के नाते पुलिस ने लैपटॉप बरामद कर उसे छोड़ दिया था।