Breaking :
||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी

हैवानियत की शिकार महिला की इलाज के दौरान मौत, पति के भतीजों और पड़ोसियों पर आरोप

रांची : हजारीबाग के चरही में गत सात जनवरी को कुछ बदमाशों ने एक महिला के साथ सामूहिक दुष्कर्म का प्रयास किया था। साथ ही उसका हाथ बांधकर जिंदा जला दिया। गंभीर रूप से जली महिला को रिम्स में भर्ती कराया गया, जहां वह मौत से जंग लड़ रही थी। आखिरकार 15 दिन बाद रविवार को उसने दम तोड़ दिया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पीड़िता के पिता ने बताया कि पिछले 15 दिनों से रिम्स के सर्जरी वार्ड में डॉ. आरएस शर्मा की देखरेख में उनकी बेटी का इलाज चल रहा था। डॉक्टरों ने पहले ही बता दिया था कि उनकी बेटी 70 फीसदी जल चुकी है, ऐसे में उसका बचना मुश्किल है। उन्होंने आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की है। उसकी बेटी ने मजिस्ट्रेट के सामने बयान दिया था कि उसके पति के दो भतीजों और पड़ोसियों समेत चार लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की और उसे खाट से बांधकर जिंदा जलाने का प्रयास किया।

पुलिस ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है। पुलिस का कहना है कि आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्हें जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

गौरतलब है कि घटना सात जनवरी दोपहर एक बजे की है। तीन साल पहले ही महिला की शादी हुई थी।