Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान

गढ़वा में ग्रामीणों ने थाने पर किया पथराव, झड़प, कई पुलिसकर्मी व ग्रामीण घायल, तनाव

गढ़वा : मेराल थाना क्षेत्र के हासनदाग गांव के एक वृद्ध के संदिग्ध हत्यारों को थाने से मुक्त कराने को लेकर गुस्साए ग्रामीणों ने शनिवार को मेराल थाने में हंगामा किया। गुस्साए लोगों ने मेराल थाना पर पथराव कर दिया। इस घटना में पुलिस कर्मियों समेत करीब एक दर्जन लोग घायल हो गए। इस दौरान पथराव कर रहे ग्रामीणों पर पुलिस ने हल्का बल प्रयोग भी किया। इसके साथ ही पुलिस ने आंसू गैस के गोले भी छोड़े।

इस घटना की सूचना मेराल और आसपास के गांवों में जंगल की आग की तरह फैल गई। मेराल थाने के पास बड़ी संख्या में लोग जमा हो गए। गुस्साए लोग मेराल थाने का घेराव कर और एनएच 75 को जाम कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं पुलिस ने भी अपने स्तर से मोर्चा संभाल लिया है।

पलामू की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

गढ़वा अनुमंडल पदाधिकारी राज महेश्वरम व अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी अवध कुमार यादव मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों से बात कर उन्हें समझाने का प्रयास कर रहे हैं। गुस्साए लोग मेराल थाने पर हासनदाग गांव के नाथन चौधरी के हत्यारों को मिलीभगत से छोड़ने का आरोप लगा रहे हैं।

बता दें कि 18 अगस्त 2022 को 70 वर्षीय नाथन चौधरी का शव यूरिया नदी के पास मिला था। नाथन चौधरी एक दिन पहले घर से निकले थे। नाथन चौधरी का शव मिलने की सूचना पर पहुंची पुलिस को ग्रामीणों ने शव उठाने से रोक दिया।

ग्रामीण नाथन चौधरी की हत्या की आशंका से हत्यारों की तत्काल गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। तब मेराल थाना पुलिस हत्यारों को अविलंब गिरफ्तार करने की बात कहकर ग्रामीणों को समझाने में सफल रही। इसके बाद नाथन चौधरी के शव को पोस्टमार्टम के लिए वहां से उठा लिया गया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बताया जा रहा है कि नाथन चौधरी की हत्या के मामले में मेराल थाना पुलिस ने चार लोगों को हिरासत में लिया है। लेकिन शुक्रवार को पूछताछ के बाद उसे छोड़ दिया गया। इसकी सूचना मिलते ही हासनदाग गांव के कई ग्रामीण मेराल थाने पहुंचे।

ग्रामीणों ने मेराल थाना प्रभारी से बात कर लाखन चौधरी के हत्यारों के बारे में जानना चाहा। इस दौरान हुई बातचीत से ग्रामीण पुलिस अधिकारी से नाराज हो गए और थाने पर पथराव शुरू कर दिया। पुलिस ने भी बल प्रयोग किया। कई पुलिसकर्मी और ग्रामीण भी घायल हुए हैं।

इसकी सूचना मिलते ही बड़ी संख्या में लोग मेराल थाने के पास पहुंच गए और थाने का घेराव करते हुए एनएच 75 को जाम कर दिया। खबर लिखे जाने तक ग्रामीणों का हंगामा जारी है। तनाव अभी भी बना हुआ है।