Breaking :
||चतरा समेत इन चार लोकसभा सीटों पर कांग्रेस प्रत्याशियों को विरोधियों से अधिक अपनों से खतरा||झारखंड: पहले चरण के चुनाव में पलामू समेत इन चार लोकसभा सीटों पर युवा मतदाता निभायेंगे निर्णायक भूमिका||आय से अधिक संपत्ति मामले में निलंबित चीफ इंजीनियर वीरेंद्र राम के पिता और पत्नी के खिलाफ कुर्की वारंट का इश्तेहार जारी||पलामू लोकसभा: शीर्ष माओवादी कमांडर रहे कामेश्वर बैठा समेत तीन उम्मीदवारों ने किया नामांकन||पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की जमानत याचिका पर कल होगी सुनवाई||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, शादी समारोह से लौट रही कार पेड़ से टकरायी, पति की मौत, पत्नी और पोते की हालत नाजुक||लातेहार: सिरफिरे युवक ने दो महिलाओं समेत पिता को कुल्हाड़ी से काट डाला, गिरफ्तार||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये
Wednesday, April 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचतराझारखंड

ग्रामीणों ने पुलिस टीम पर किया हमला, ASI से की जमकर मारपीट, वर्दी फाड़ अर्धनग्न किया

सड़क दुर्घटना में शामिल पिकअप वैन मालिक को भगाने का आरोप

चतरा : जिला मुख्यालय से सटे सदर थाना क्षेत्र का सिंहपुर गांव मंगलवार को रणक्षेत्र में तब्दील हो गया। ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों पर हमला कर दिया। इस दौरान सदर थाने के एएसआई शशिकांत ठाकुर को ग्रामीणों ने बंधक बनाकर उनके साथ अभद्र व्यवहार किया। मारपीट के साथ ही वर्दी फाड़ दी और उन्हें अर्धनग्न कर दिया।

एएसआई को ग्रामीणों से मुक्त कराने के लिए पुलिसकर्मियों ने लाठी-डंडों का प्रयोग किया तो ग्रामीण उग्र हो गए और पथराव करने लगे। जिसमें पांच जवान घायल हो गए और तीन पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। अथक प्रयास के बाद सहायक अवर निरीक्षक को ग्रामीणों से मुक्त कराया गया।

घटना का कारण सड़क हादसा बताया जा रहा है। आज सुबह करीब आठ बजे चंगेर नदी के पास पिकअप वैन और बाइक की सीधी टक्कर हो गयी। जिसमें डहुरी गांव के पप्पू भारती की मौके पर ही मौत हो गयी। जबकि बाइक सवार दो अन्य लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना की सूचना मिलने पर एएसआई शशिकांत ठाकुर दलबल को लेकर वहां पहुंचे और घायलों को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेजा और पिकअप को जब्त कर थाने ला रहे थे।

ग्रामीणों का आरोप है कि एएसआई पिकअप वैन के मालिक के साथ मिलकर उसे भगाने के लिए दूसरी सड़क से ले जा रहा था। इस मामले को लेकर ग्रामीणों ने पिकअप वैन को जब्त कर एएसआई को बंधक बना लिया। उसके बाद कुछ असामाजिक तत्वों ने उसके साथ मारपीट और अभद्र व्यवहार करना शुरू कर दिया। उनकी वर्दी फाड़ दी। घटना की सूचना मिलने पर जिला मुख्यालय से अतिरिक्त बल भेजा गया। इसके बाद पथराव की घटना हो गयी। काफी मशक्कत के बाद एएसआई को ग्रामीणों के चंगुल से छुड़ाया गया।