Breaking :
||हजारीबाग सांसद जयंत सिन्हा ने राजनीति से लिया संन्यास, भाजपा अध्यक्ष को लिखा पत्र, जानिये वजह||दुमका में स्पेनिश महिला पर्यटक से गैंग रेप, तीन आरोपी गिरफ्तार||लातेहार: बारियातू में बाइक पर अवैध कोयला ले जा रहे नौ लोग गिरफ्तार, जेल||लातेहार: अपराध की योजना बनाते दो युवक हथियार के साथ गिरफ्तार||पलामू: पेड़ से टकराकर पुल से नीचे गिरी बाइक, दो नाबालिग छात्रों की मौत, दो की हालत नाजुक||लोकसभा चुनाव: भाजपा ने की झारखंड से 11 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा, चतरा समेत इन तीन सीटों पर सस्पेंस बरकरार||लोससभा चुनाव: भाजपा की 195 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी, देखें पूरी लिस्ट||सदन की कार्यवाही शुरू होते ही सत्ता पक्ष और विपक्ष के विधायकों का हंगामा||झारखंड विधानसभा: बजट सत्र के अंतिम दिन कई विधेयक पारित||धनबाद: अस्पताल में लगी आग, मची अफरा-तफरी, मरीज और परिजन जान बचाकर भागे
Saturday, March 2, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड: UPA विधायकों ने राज्यपाल से की फैसला सार्वजनिक करने की मांग

रांची : झारखंड में सियासी घमासान के बीच संप्रग (संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन) विधायकों ने रविवार को राज्यपाल रमेश बैस से इस फैसले को सार्वजनिक करने की मांग की। साथ ही कहा कि राज्य में ऐसी स्थिति पैदा कर खरीद-फरोख्त को बढ़ावा दिया जा रहा है।

Raja AD

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

साथ ही सवाल उठाया कि जब जनप्रतिनिधित्व कानून की धारा 9ए के तहत किसी की सदस्यता रद्द नहीं की गई है तो सीएम हेमंत सोरेन के साथ संवैधानिक संस्थाओं का दुरुपयोग कर ऐसा व्यवहार क्यों किया जाए।

रविवार शाम को, झामुमो, कांग्रेस और राजद के विधायक सीएम आवास पर एकत्रित हुए, पत्रकारों से बात करते हुए, राज्यपाल रमेश बैस से जल्द से जल्द निर्णय देने का आग्रह किया। वहीं सवाल उठाते हुए कहा कि क्या कारण है कि राज्यपाल ने चुनाव आयोग के पत्र पर अपनी मंशा नहीं बताई है। ऐसी कौन सी कानूनी सलाह है, जो आप नहीं ले सकते।

Raja AD 2