Breaking :
||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री||JPSC पीटी के मॉडल आंसर को चुनौती देने वाली याचिका हाईकोर्ट में खारिज, परीक्षा का रास्ता साफ||लातेहार: सेरेगड़ा पंचायत सेवक अर्जुन राम रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||झारखंड में चार DSP की ट्रांसफर-पोस्टिंग, समीर कुमार सवैया बने किस्को के DSP||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री||वन भूमि से कब्जा हटाने गयी टीम पर ग्रामीणों का हमला, पत्थरबाजी में वन क्षेत्र पदाधिकारी समेत एक दर्जन घायल||झारखंड में इस तारीख को मानसून की एंट्री, बारिश और वज्रपात का अलर्ट||लातेहार: दो बाइकों की टक्कर में मामा-भांजा समेत चार घायल समेत बालूमाथ की दो खबरें||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस
Thursday, June 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरउत्तरी छोटानागपुरझारखंड

BSF के स्थापना दिवस समारोह में शामिल हुए केंद्रीय गृह मंत्री, कहा- देश जल्द होगा वामपंथी उग्रवाद से पूरी तरह मुक्त

रांची/हजारीबाग : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शुक्रवार को हजारीबाग स्थित झांसी रानी परेड मैदान में बीएसएफ के 59वें स्थापना दिवस समारोह में शामिल हुए। इस दौरान उन्होंने परेड की सलामी ली। गृह मंत्री ने बीएसएफ के जवानों को पदक देकर सम्मानित भी किया।

मौके पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि आज वे झारखंड में हैं। कल ही उन्होंने देशभर में वामपंथी उग्रवाद की समस्या पर जो लड़ाई चल रही है उसकी समीक्षा की। वे देश की जनता को बताना चाहते हैं वह दिन दूर नहीं जब देश वामपंथी उग्रवाद से पूरी तरह से मुक्त हो जायेगा।

शाह ने कहा कि आज वे विश्वास से कह रहे हैं कि विगत 10 वर्षों में भारत सरकार के प्रयास से हिंसा की घटना में कमी आयी है। वामपंथी उग्रवाद सिमटता जा रहा है। हिंसा पर प्रहार करने के लिए सीआरपीएफ, बीएसएफ और आईटीबीपी तीनों तैयार हैं। हम आने वाले दिनों में वामपंथी के उग्रवाद से देश को मुक्त करने के लिए कटिबद्ध हैं। ये बीएसएफ और अन्य सुरक्षा बलों का ही प्रयास है कि बुढ़ापहाड़ को उग्रवाद से मुक्त करने में सफलता मिली है।

केंद्रीय गृह मंत्री ने बीएसएफ के जवानों की जमकर सराहना की। उन्होंने कहा कि ‘जीवन पर्यन्त कर्तव्य’ केवल बीएसएफ का घोष वाक्य नहीं है, बल्कि अपने आप को चरितार्थ भी किया है। साथ ही कहा कि बीएसएफ के लाखों सीमा प्रहरियों ने अपने जीवन का स्वर्णकाल 40 डिग्री सेल्सियस से लेकर 45 डिग्री सेल्सियस के रेगिस्तान में, कहीं हरामी नाला की दलदलों में तो कहीं बंगाल की सुंदरनगर के जल में बिताया है। परिवार से दूर रहकर दुर्गम सीमाओं की सुरक्षा जिस तरह से बीएसएफ ने सुनिश्चित की है।

शाह ने कहा कि पूरा देश बीएसएफ के जवानों को सलाम करता है और नाज करता है। आपके मोर्चा संभालने के बाद किसी को देश सीमा की चिंता करने की जरूरत नहीं है। आप देश की सीमाओं की रक्षा की प्रथम पंक्ति के प्रहरी हैं। आप दिवाली का दीया सरहद पर जलाते हो, होली सरहद पर मानते हो। आप सीमा पर होते हैं तभी हम घरों में सुकून से रह पाते हैं। जिस देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं होती है वह देश कभी विकसित नहीं हो सकता। पूरा देश और विशेषकर मैं गृह मंत्री आप पर बहुत नाज करता हूं, गर्व करता हूं

शाह ने कहा कि आज यहां पर वीरता के लिए पदक भी दिये गये। पांच शहीदों को मरणोपरांत पदक दिये गये। उन्होंने कहा कि शहीद के परिवारों को मैं कहना चाहता हूं कि आपके परिवार का जो नुकसान हुआ उसकी कोई भरपाई नहीं है लेकिन 130 करोड़ की जनता आपके परिवार के बलिदान पर हमेशा गर्व करती है। हमेशा यह इतिहास के पन्नों पर दर्ज रहेगा।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश ने हर क्षेत्र में प्रगति की है। चाहे चांद पर चंद्रयान पहुंचना हो, चाहे जी-20 की बैठक में देश के ध्वज को समस्त विश्व में लहराना हो। चाहे हमारी अर्थव्यवस्था को 11वें नंबर से पांचवें नंबर पर पहुंचाना हो। पीएम मोदी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। जब-जब भी देश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार आयी सीमा सुरक्षा को हमने प्राथमिकता दी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सुरक्षा, विकास और लोकतंत्र की प्रक्रिया तीनों को बढ़ावा दिया गया। सीमा के क्षेत्र में हजार करोड़ की बजट के साथ इंफ्रास्ट्रक्चर बनाने की शुरुआत हुई। सीमा वाले क्षेत्र में अनेक कल्याणकारी योजनाओं की शुरुआत हुई।

समारोह में बीएसएफ के सभी फ्रंटियर के महिला-पुरुष की टुकड़ियों ने हिस्सा लिया। बीएसएफ के जवानों ने कई हैरतअंगेज करतब दिखायें। बीएसएफ के एयरविंग हेलीकॉप्टर, ऊंट और घुड़सवारी दस्ते, बाइक टीम, डॉग दस्ता, पैराग्लाइडिंग सहित अन्य दस्तों का भी प्रदर्शन किया।

बीएसएफ के डीजी नितिन अग्रवाल ने बीएसएफ के 59वें स्थापना दिवस पर सभी का स्वागत किया। साथ ही 1068 शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि 193 बटालियन के साथ यह देश का सबसे बड़ा सीमा सुरक्षा बल है। उन्होंने बताया कि पिछले एक साल में बीएसएफ ने 150 किलो हीरोइन जब्त किये हैं। साथ ही 150 किलो सोना जब्त किया है। पाकिस्तान के 90 ड्रोन को मार गिराया है।

इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री अन्नपूर्णा देवी, सांसद जयंत सिन्हा सहित अन्य लोग मौजूद थे।

Hazaribagh BSF foundation day