Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड पुलिस के दो पदाधिकारियों को केंद्रीय गृह मंत्री मेडल

रांची : केंद्रीय गृह मंत्रालय ने देश के 151 सर्वश्रेष्ठ शोधकर्ताओं को वर्ष 2022 के लिए केंद्रीय गृह मंत्री पदक की सिफारिश की है। यह मेडल हर साल बेहतर शोध के लिए दिया जाता है। इस वर्ष झारखंड के केवल दो पदाधिकारियों को बेहतर शोध के लिए केंद्रीय गृह मंत्री पदक मिला है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इन पदाधिकारियों में सीआईडी के डीएसपी जेपीएन चौधरी और रांची जिला बल के चान्हो थाने में तैनात महिला निरीक्षक रूपा बाखला शामिल हैं।

गुमला में एकीकृत आदिवासी विकास एजेंसी के सरकारी खाते से फर्जी चेक के माध्यम से नौ करोड़ पांच लाख 16 हजार 700 रुपये की अवैध निकासी करने वाले अंतरराज्यीय गिरोह को पकड़ने और पैसे की वसूली के लिए सीआईडी के डीएसपी जेपीएन चौधरी को यह पदक मिला है। उन्होंने बेहतर शोध की बदौलत एक बड़े रैकेट का खुलासा किया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

वहीं चान्हो थाने की महिला एसआई रूपा बाखला को वहां सामूहिक दुष्कर्म की घटना को सुलझाने के लिए बेहतर शोध के लिए मेडल मिला है। चान्हो में सेना की बहाली की दौड़ में शामिल नाबालिग का अपहरण कर कार में सामूहिक दुष्कर्म करने वाले तीनों आरोपियों को महिला एसआई ने 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर मामले का खुलासा कर दिया था।