Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंड

हजारीबाग में गैंगेस्टर अमन साहू गिरोह के दो शूटर हथियार के साथ गिरफ्तार, एक पलामू का

रांची : हजारीबाग पुलिस ने अमन साहू गिरोह के दो शूटर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार दोनों गुर्गे लेवी वसूली के लिए दहशत फैलाने के उद्देश्य से हजारीबाग आ रहे थे। इसी दौरान पुलिस ने गुप्त सूचना पर दोनों को हथियार के साथ गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार आरोपियों में छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले धर्मजायगढ़ थाना क्षेत्र स्थित बेबी कॉलोनी निवासी नितीश शील उर्फ मेजर सिंह और पलामू जिला के मेदनीनगर थाना क्षेत्र के वार्ड 8 निवासी अभिनव तिवारी उर्फ सुशांत तिवारी शामिल हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

गिरफ्तार आरोपी के पास से पुलिस ने एक 9 एमएम पिस्टल, पांच कारतूस, मैगजीन, 7.62 एमएम के छह कारतूस, एक बाइक, तीन मोबाइल व 57300 रुपये नकद बरामद किये हैं।

हजारीबाग एसपी को गुप्त सूचना मिली थी कि हजारीबाग में लेवी वसूली के लिए दहशत फैलाने के उद्देश्य से अमन साहू गैंग के दो शूटर हजारीबाग आने वाले हैं। सूचना पर मुफस्सिल थाना प्रभारी और कोर्रा थाना प्रभारी के नेतृत्व में गठित छापेमारी दल ने त्वरित कार्रवाई करते हुए कन्हरी पुल के समीप बाइक सवार दोनों अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया।

मामले को लेकर कोर्रा थाने में प्राथमिकी दर्ज की गयी है। गौरतलब है कि इन शूटरों द्वारा छत्तीसगढ़ के कोयला कंपनी में दहशत फैलाने के उद्देश्य से विस्फोट किया गया था। हजारीबाग स्थित कोल कंपनी व व्यवसायियों के बीच दहशत फैलाने के उद्देश्य से दोनों शूटर हजारीबाग आ रहे थे।