Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Wednesday, May 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचंदवापलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: अवैध कोयला ले जा रहे दो सवारी वाहन पकड़ाये, एक गिरफ्तार, एक फरार

लातेहार: जिले की चंदवा थाना पुलिस ने एनएच-39 पर स्थित सिकनी मध्य विद्यालय के पास से शनिवार को अवैध कोयला ले जा रहे दो सवारी वाहनों को पकड़ा है। मौके पर पुलिस ने इस अवैध कारोबार में शामिल एक आरोपी को गिरफ्तार किया है, जबकि एक आरोपी भागने में सफल रहा। जब्त दोनों वाहनों में करीब बीस क्विंटल अवैध कोयला लदे हैं।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

चंदवा पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी अमित कुमार गुप्ता ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि दो सवारी वाहन अवैध कोयला लेकर सिकनी से लातेहार की ओर जाने वाले हैं। इस सूचना पर एक छापामारी दल का गठन किया गया। छापामारी दल ने जांच के क्रम में सिकनी मध्य विद्यालय के पास दोनों वाहनों को रोका और पूछताछ की। इस क्रम में पुलिस को देखकर एक आरोपी वाहन छोड़कर भागने में सफल रहा जबकि एक आरोपी अरविंद प्रसाद, नावागढ़, लातेहार को को गिरफ्तार कर लिया गया।

इस मामले में चंदवा थाना कांड संख्या 37/2023 दिनांक 11/02/23 धारा 379/411 IPC और 30(ii) कोयला खान अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है। जबकि गिरफ्तार आरोपी को जेल भेज दिया गया है।

इस छापामारी दल में एएसआई कमलेश राम, एएसआई शशिरंजन सिंह और सिकनी पिकेट के सशस्त्र बल शामिल थे।