Breaking :
||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव||जमानत अवधि पूरी होने के बाद निलंबित IAS पूजा सिंघल ने किया ED कोर्ट में सरेंडर||एकतरफा प्यार में बाइक सवार मनचले ने स्कूटी सवार युवती को धक्का देकर मार डाला||आजसू ने रामगढ़ विधानसभा सीट से सुनीता चौधरी को मैदान में उतारा||झारखंड में अब मुफ्त नहीं मिलेगा पानी, सरकार को देना होगा 3.80 रुपये प्रति लीटर की दर से वाटर टैक्स||27 फरवरी से 24 मार्च तक झारखंड विधानसभा का बजट सत्र, राज्यपाल की मिली स्वीकृति||लातेहार: ऑपरेशन OCTOPUS के दौरान सुरक्षाबलों को मिली एक और बड़ी सफलता, अत्याधुनिक हथियार समेत भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता की गला रेत कर हत्या, जांच में जुटी पुलिस

दुमका: दहेज में नहीं मिले दो लाख रुपए व बाइक तो पत्नी को पीट-पीटकर मार डाला, शव को फंदे से लटकाया

दुमका : दहेज के लिए पत्नी की पिटाई कर शव को फांसी पर लटकाने के आरोप में बजरंग लाल को नगर थाने की पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। घटना गुरुवार को दुमका शहर के हीरो शोरूम के सामने हुई। महिला पूनम कुमारी के दो बच्चे हैं। महिला मूल रूप से बिहार राज्य के पूर्वी चंपारण जिले के दरपा थाना क्षेत्र के गम्हरिया बाजार की रहने वाली थी।

मृतक के पिता अरविंद प्रसाद ने पुलिस को लिखित आवेदन में अपने दामाद और ससुराल वालों पर आरोप लगाया है कि बेटी की शादी 2012 में हुई थी। बेटी की शादी बड़ी धूमधाम से हुई। शादी के बाद बाइक व दो लाख की मांग की जाने लगी। पैसे के लिए बेटी को पीटा और प्रताड़ित किया गया। कई बार मामला सामाजिक स्तर से सुलझाया गया। इसके बाद भी बेटी को प्रताड़ित किया गया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

पिता अरविंद प्रसाद ने बताया कि उनकी दूसरी बेटी की शादी तय थी। शादी तय होने के बाद बड़े दामाद बजरंग लाल ने बेटी को बताया कि दूसरी बेटी की शादी में जितना पैसा खर्च हुआ है। उसे भी उतनी ही राशि चाहिए। उसने किसी तरह दूसरी बेटी से शादी कर ली। शादी के बाद बड़ी बेटी का पति दहेज के पैसे लेकर उसकी खूब पिटाई करने लगा। फिर उसने किसी तरह दो लाख रुपये लेकर दामाद को दे दिए। इसके बाद भी दामाद संतुष्ट नहीं हुआ।

गुरुवार को बेटी की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई और शव को आत्महत्या का रूप देने के लिए फांसी पर लटका दिया गया। घटना की खबर मिलते ही नगर थाने की पुलिस ने शव को अपने कब्जे में ले लिया और शुक्रवार को पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया। परिवार ने दुमका के विजयपुर मुक्तिधाम में शव का अंतिम संस्कार किया। इस मामले में दामाद बजरंग लाल के अलावा शंकर महतो, कुबतुरी देवी, रवि रंजन, जय ज्ञान, रीना देवी आदि के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है।