Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

रांची: फर्जी कोविड पॉजिटिव रिपोर्ट बनाने के आरोप में रिम्स कर्मी समेत दो गिरफ्तार

रांची : पुलिस ने रविवार को अमरजीत और सन्नी को कोरोना पॉजिटिव की फर्जी रिपोर्ट बनाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। इस मामले को लेकर रिम्स के अधीक्षक ने बरियातू थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सरेंडर से बचने के लिए संजय तिवारी ने कोरोना पॉजिटिव का फर्जी सर्टिफिकेट बनवाया था। संजय तिवारी को सुप्रीम कोर्ट से मिली अंतरिम जमानत खत्म होने के बाद 25 मार्च को सरेंडर करना था, लेकिन उसने 27 मार्च को कोर्ट को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट दी। खुद को रिम्स में इलाज कराने की बात कही।

हालांकि ईडी ने मामले की जांच की और इसे फर्जी पाया। इसके बाद संजय तिवारी फरार हो गया। बीते शनिवार ईडी की टीम ने संजय तिवारी के अरगोड़ा स्थित आवास पर छापेमारी की थी लेकिन वह फरार था।

Ranchi fake covid report