Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

ईडी की कार्रवाई का लॉ एंड ऑर्डर पर क्या पड़ेगा असर के सवाल पर बिफरे राज्यपाल, कहा- मुख्यमंत्री के खिलाफ ईडी की कार्रवाई से नहीं बिगड़ेगी कानून व्यवस्था

रांची : इक्फाई विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह के बाद बुधवार को पत्रकारों ने राज्यपाल सीपी राधाकृष्णन से सवाल किया कि ईडी की कार्रवाई का झारखंड के लॉ एंड ऑर्डर पर क्या असर पड़ेगा? इस पर राज्यपाल ने कहा कि ईडी अपना काम कर रहा है और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को सही जवाब ईडी को देना है। कोई कानून से ऊपर नहीं है। इसलिए लॉ एंड ऑर्डर बिगड़ने की बात ही नहीं है।

राज्यपाल ने दूसरे सवाल के जवाब में कहा कि आखिर पब्लिक क्यों गुस्सा होगी? उसे गुस्सा होने की जरूरत क्या है? ऐसा सवाल ही नहीं उठता है। लोकतंत्र में इन सब बातों की कोई जगह नहीं है। प्रधानमंत्री ने भी जांच एजेंसियों (एसआईटी) को सवालों के जवाब दिये हैं। यदि आपको जननेता बनना है तो आपको जवाब देना ही होगा।

गौरतलब है कि गत मंगलवार को झामुमो महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने ईडी की कार्रवाई पर रोष जताते हुए कहा कि इससे राज्य की जनता में आक्रोश है। ईडी ने यदि चेतावनी को समझने में देर की तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं। उन्होंने ईडी की कार्रवाई पर सवाल भी उठाये।

Jharkhand Governor Statement News