Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अज्ञात वाहन की चपेट में आने से एक बाइक सवार की मौत, दो की हालत गंभीर||लातेहार: माओवादियों की बड़ी साजिश नाकाम, बरवाडीह के जंगल से आठ आईईडी बम बरामद||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी
Tuesday, April 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

लोकसभा चुनाव से पहले आयोग झारखंड के सभी जिलों के 600 मतदान केंद्रों का करायेगा सामाजिक अंकेक्षण

रांची : लोकसभा चुनाव की तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे चुनाव आयोग ने मतदान केंद्रों का सोशल ऑडिट कराने का फैसला किया है। इसके तहत राज्य के सभी 24 जिलों में स्थित मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया जायेगा। मतदान केंद्रों पर उपलब्ध करायी जा रही सुविधाओं पर जिला स्तर से भेजी गयी रिपोर्ट की जमीनी हकीकत का आकलन करने की जिम्मेदारी थर्ड पार्टी को दी गयी है।

चुनाव आयोग के निर्देश पर होने वाले सामाजिक अंकेक्षण की जिम्मेदारी ग्रामीण विकास विभाग की सामाजिक अंकेक्षण इकाई को दी गयी है, जो राज्य के सभी 24 जिलों के 600 मतदान केंद्रों का दौरा करेगी और वहां की जमीनी हकीकत से रूबरू होगी। सोशल ऑडिट टीम न सिर्फ मतदान केंद्रों का दौरा करेगी बल्कि जिला स्तर से प्राप्त रिपोर्ट की भी जांच करेगी। निरीक्षण टीम मतदान केंद्र पर स्थानीय बीएलओ और मतदाताओं से भी बात करेगी और करीब 14 बिंदुओं पर रिपोर्ट चुनाव आयोग को सौंपेगी।

सामाजिक अंकेक्षण के दौरान टीम मतदान केंद्रों की वास्तविक स्थिति, गांव के दो किलोमीटर के अंदर मतदान केंद्र है या नहीं, बुनियादी सुविधाएं जैसे रैंप, पेयजल, बिजली आपूर्ति, शौचालय, टेबल-कुर्सी, क्रेच, स्थाई शेड, लाइट व पंखा आदि का आकलन किया जायेगा।

इस संबंध में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी के रवि कुमार ने कहा कि सोशल ऑडिट रिपोर्ट आने के बाद यह देखा जायेगा कि जिलों से प्राप्त रिपोर्ट के अनुरूप मतदान केंद्रों पर व्यवस्था की गयी है या नहीं। व्यवस्था में कमी पाये जाने पर समय पर सुविधाएं उपलब्ध करायी जायेंगी और उचित कार्रवाई की जायेगी। सोशल ऑडिट को जल्द से जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया है। कुल मतदान केंद्रों के दो प्रतिशत पर इस तरह का सामाजिक अंकेक्षण कराने का प्रावधान है। इस तरह राज्य के सभी जिलों में करीब 600 मतदान केंद्रों का निरीक्षण किया जायेगा।

Jharkhand polling stations social audit