Breaking :
||झारखंड कैबिनेट का फैसला, सरकार करायेगी जातिगत गणना, विधायकों का वेतन भत्ता बढ़ा, रिटायर्ड कर्मचारियों को भी मिलेगी प्रमोशन||झारखंड को नशामुक्त राज्य बनाने के लिए सरकार प्रतिबद्ध, हर किसी की सहभागिता जरूरी : मुख्यमंत्री||वन भूमि से कब्जा हटाने गयी टीम पर ग्रामीणों का हमला, पत्थरबाजी में वन क्षेत्र पदाधिकारी समेत एक दर्जन घायल||झारखंड में इस तारीख को मानसून की एंट्री, बारिश और वज्रपात का अलर्ट||लातेहार: दो बाइकों की टक्कर में मामा-भांजा समेत चार घायल समेत बालूमाथ की दो खबरें||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, जांच में जुटी पुलिस||झारखंड कैबिनेट की बैठक 19 जून को, लिये जायेंगे कई अहम फैसले||रजरप्पा को विश्वस्तरीय धार्मिक पर्यटन स्थल के रूप में किया जाये विकसित, कार्ययोजना करें तैयार : मुख्यमंत्री||झारखंड में IPS अधिकारियों का ट्रांसफर-पोस्टिंग||पलामू में प्रतिबंधित मांस का टुकड़ा फेंके जाने से तनाव, इलाका पुलिस छावनी में तब्दील
Wednesday, June 19, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: उग्रवादी संगठन झारखंड क्रांति मोर्चा का सुप्रीमो पत्नी समेत गिरफ्तार, हथियार और कारतूस बरामद

लातेहार : नक्सलियों के खिलाफ चलाये जा रहे सर्च अभियान के दौरान सीआरपीएफ 214 बटालियन को बड़ी सफलता मिली है। सीआरपीएफ ने सदर थाना क्षेत्र के लेधपा गांव से उग्रवादी संगठन झारखंड क्रान्ति मोर्चा के सुप्रीमो शंकर राम को उसकी पत्नी कविता भुइयां के साथ गिरफ्तार किया है।

इसके पास से सीआरपीएफ ने एक 315 राइफल मैगजीन के साथ, तीन देशी पिस्तौल, पांच 315 जिंदा कारतूस, एक 315 खाली कारतूस, एक बारूद का पाउच समेत भारी मात्रा में अन्य सामग्री बरामद किया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

यह नक्सल विरोधी अभियान सीआरपीएफ 214 बटालियन के कमांडेंट केडी जोशी के निर्देश पर चलाया जा रहा था। जिसका नेतृत्व सीआरपीएफ 214 बटालियन के सहायक कमांडेंट प्रहलाद रजक कर रहे थे। इस अभियान में सीआरपीएफ सी/214 बटालियन कुमंडीह कंपनी के साथ जिला पुलिस एवं क्यूएटी-214 बटालियन की टीम शामिल थी।

इस अभियान का सफल नेतृत्व सीआरपीएफ 214 बटालियन के कमांडेंट केडी जोशी ने किया। जबकि इस अभियान में सीआरपीएफ 214 बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी अभिनव आनन्द, सहायक कमांडेंट प्रहलाद रजक शामिल रहे।

214 बटालियन ने सफलतापूर्वक अभियान चलाकर नक्सलियों के नापाक मंसूबों को विफल कर दिया है। इससे ग्रामीणों में सीआरपीएफ के प्रति विश्वास और मजबूत हुआ है।