Breaking :
||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट||झारखंड के 4 IAS अधिकारियों का तबादला, JPSC के सचिव का भी हुआ ट्रांसफर||झारखंड में 23 IPS अफसरों का तबादला, अंजनी अंजन बने रांची के ग्रामीण एसपी||पलामू: ग्रामीण डॉक्टर का अपहरण, मरीज को दिखाने के बहाने क्लिनिक में आये थे अपराधी||Jharkhand Budget: बाबूलाल मरांडी ने कहा- बजट में जन कल्याणकारी योजनाओं का समावेश नहीं||विधानसभा में 1.28 लाख करोड़ का बजट पेश, 2 लाख तक के कृषि ऋण होंगे माफ़, जानिये सरकार की अन्य घोषणायें
Wednesday, February 28, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड पुलिस के साथ सीमावर्ती राज्यों की बैठक में नक्सलवाद को खत्म करने की रणनीति पर बनी सहमति

रांची : झारखंड पुलिस मुख्यालय रांची के सभागार में डीजीपी अजय कुमार सिंह की अध्यक्षता में शुक्रवार को पूर्वी क्षेत्रीय पुलिस समन्वय समिति (ईआरपीसीसी) की बैठक हुई। बैठक में अन्य राज्यों के वरीय अधिकारियों एवं डीजीपी के साथ वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये रणनीति बनायी गयी।

बैठक में झारखंड राज्य के सभी सीमावर्ती राज्यों छत्तीसगढ़, ओडिशा, बिहार एवं पश्चिम बंगाल के साथ मुख्य रूप से खुफिया जानकारियों को तत्काल साझा करने, नोडल पदाधिकारी की नियुक्ति करने, वामपंथी उग्रवाद परिदृश्य के आलोक में की जा रही कार्रवाई, सीमावर्ती क्षेत्रों में उत्पन्न होने वाली समस्याओं पर आपसी सहयोग, नशीले पदार्थ एवं अवैध शराब की तस्करी पर प्रभावी रोकथाम, सीमावर्ती क्षेत्रों में आतंकवादी तत्वों की गतिविधियों पर नकेल कसने, मानव तस्करी पर रोकथाम, सभी स्तरों पर अंतर्राज्यीय समन्वय बैठकों के लिए तंत्र तथा सक्रिय अंतर्राज्यीय संगठित अपराध एवं आपराधिक गिरोहों के विरुद्ध संयुक्त कारगर कार्रवाई करने की कार्ययोजना की रूप रेखा पर चर्चा की गयी।

झारखंड के डीजीपी ने सीमावर्ती राज्यों ओडिशा, छत्तीसगढ़, बिहार, पश्चिम बंगाल के अधिकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि वैसे सभी सीमावर्ती क्षेत्र जहां से अफीम, डोडा, नशीली दवाएं अवैध शराब और अन्य नशीले पदार्थों की तस्करी की संभावना है। वैसे चिन्हित चेकपोस्ट को समय-समय पर औचक जांच करने का सुझाव दिया। साथ ही वामपंथी उग्रवाद से निपटने के लिए सीमा क्षेत्रों पर चेकिंग अभियान चलाने, सीमावर्ती नक्सल क्षेत्रों में चरणबद्ध एवं समय-बद्ध तरीके से नक्सलियों के खात्मे की रूप रेखा, ओडिशा सीमा पर सारंडा वन क्षेत्र में नक्सलियों पर शिकंजा कसने के लिए संयुक्त अभियान चलाने के लिए विशेष सुझाव दिया।

इसके अलावा चतरा, पलामू, हजारीबाग, गिरीडीह, कोडरमा जैसे बिहार से सटे क्षेत्रों में तथा पश्चिम बंगाल के सीमावर्ती क्षेत्रों में स्थानीय स्तर पर सूचनातंत्र को सशक्त करते हुए कारगर कार्रवाई किये जाने, खुफिया तंत्र को सशक्त बनाने एवं उनसे प्राप्त सूचनाओं को ससमय साझा करते हुए संयुक्त रूप से अभियान चलाने को कहा।

उन्होंने नक्सलियों के खिलाफ नयी कार्य योजना तथा पूर्व से चलाये जा रहे नक्सली अभियानों में तेजी लाने के लिए विचार-विमर्श किया। सीमावर्ती राज्यों के पुलिस अधीक्षक के स्तर पर निरन्तर आपसी समन्वय बैठक किये जाने तथा अन्तर्राज्यीय सीमाओं पर नक्सली गतिविधियों पर कड़ी नजर रखने एवं सटीक सूचना उपलब्ध कराने क लिए पुलिस बल के आपसी समन्वय पर बल दिया।

आईजी अभियान एवी होमकर ने पुलिस की नक्सलवाद के खात्मे पर बनायी गयी रणनीति के संबंध में अपनी प्रस्तुति दी। इसमें सीमा क्षेत्रों पर उग्रवादियों के भ्रमण और अन्य संदिग्ध गतिविधियों को अपने आसपास के थाना क्षेत्रों से साझा करने और सूचना तंत्र को और मजबूत करने के लिए सुझाव दिये।

इसके अलावा सीआईडी के पुलिस महानिरीक्षक ने नशीले पदार्थ, अवैध शराब एवं मानव तस्करी पर प्रस्तुति दी। एसपी एटीएस ने अंतर्राज्यीय संगठित आपराधिक गिरोह, आतंकवाद एवं कट्टरपंथी तत्वों के संबंध में अपनी प्रस्तुति दी। अपराध अनुसंधान विभाग के पुलिस अधीक्षक ने साईबर अपराधियों की ओर से अपनाये जाने वाले नये-नये तरीकों के संबंध में जानकारी दी।

बैठक में एडीजी मुरारीलाल मीणा, एडीजी प्रिया दूबे, विधि कुमार विर्दी, छत्तीसगढ़ से अंकित गर्ग और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक अशोक जुनेजा, ओडिशा के पुलिस महानिदेशक एस के बंसल, पश्चिम बंगाल से सुशील मानसिंह खोपडे, और बिहार से सुशील कुमार उपस्थित थे।

Jharkhand Police Strategy eliminate Naxalism