Breaking :
||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति||1932 के खतियान आधारित स्थानीयता वाले विधेयक को राज्यपाल ने लौटाया, कहा- सरकार वैधानिकता की करे समीक्षा||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता ने किया पतरातू गांव का दौरा, घटना की CID जांच की मांग||लातेहार: मूर्ति विसर्जन के दौरान दो समुदायों में भिड़ंत, गांव पहुंचे विधायक और एसपी, माहौल तनावपूर्ण||ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री पर जानलेवा हमला, कार से उतरते ही ASI ने मारी गोली||मनिका: करोड़ों की लागत से हो रहे सड़क निर्माण में धांधली, बालू की जगह डस्ट से हो रही ढलाई||पड़ताल: गांव के दबंग ने ज़बरन रुकवाया PM आवास का निर्माण, 4 सालों से सरकारी बाबुओं के कार्यालय का चक्कर लगा रहा पीड़ित परिवार||लातेहार: बंद पड़े अभिजीत पावर प्लांट के सुरक्षा गार्ड की संदेहास्पद मौत, जांच जारी

झारखंड में अब लगेंगे स्मार्ट मीटर, जीएम बोले- मीटर लगाने के एवज में मांगे पैसे तो करें व्हाट्सएप

रांची : झारखंड में अब स्मार्ट मीटर लगाये जायेंगे ।रांची से स्मार्ट मीटर लगाने की प्रक्रिया शुरू हो गयी है। शहर में मीटर लगाने के लिए 145 टीमें काम कर रही हैं। स्मार्ट मीटर लगाने के एवज में विभाग को कई जगहों पर पैसे मांगने की शिकायत मिली है। इसके बाद विभाग एक्शन मोड में आ गया है। जेबीवीएनएल के जीएम पीके श्रीवास्तव ने इसके लिए एक व्हाट्सएप नंबर जारी किया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

नंबर जारी करते हुए जेबीवीएनएल के जीएम ने कहा है कि अगर कोई व्यक्ति स्मार्ट मीटर लगवाने के बदले में पैसे की मांग करता है तो वह इसकी शिकायत व्हाट्सएप पर कर सकता है। इसकी जानकारी मोबाइल नंबर 94311-35682 पर दें। शिकायत मिलने के दो घंटे के भीतर समस्या का समाधान कर दिया जायेगा।

स्मार्ट मीटर लगाने की विभागीय समीक्षा के दौरान सामने आए आंकड़ों के मुताबिक शहर में प्रतिदिन 730 मीटर स्मार्ट मीटर लगाए जा रहे हैं। अब तक मीटर लगाने का आंकड़ा 14,235 हो गया है। घरों में मीटर लगाने का काम जीनस कंपनी कर रही है। जीएम पीके श्रीवास्तव ने मीटर लगाने वाली कंपनी को चार दिन के भीतर मैनपावर बढ़ाने को कहा है। जरूरत पड़ने पर इनकी संख्या 175 तक करें। उन्होंने निर्देश दिए कि नए कनेक्शन वाले उपभोक्ताओं के खराब मीटर व मीटर को प्राथमिकता के आधार पर स्मार्ट मीटर में बदला जाए।

स्मार्ट मीटर को लेकर कई तरह की बातों को लेकर उपभोक्ताओं में भ्रम की स्थिति बनी हुई है। इसे दूर करते हुए विभाग की ओर से अपील जारी की गयी है। कहा गया है कि स्मार्ट मीटर पूरी तरह नि:शुल्क लगाये जा रहे हैं। इसके लिए उपभोक्ताओं को कोई शुल्क नहीं देना होगा। यह मीटर मेन गेट के पास लगाया जायेगा। इसके लिए घर जा रहे कार्यकर्ता से बहस न करें। यह भी ध्यान रखें कि पोल और स्मार्ट मीटर के बीच का तार कटा या जुड़ा हुआ नहीं होना चाहिए।

रांची शहर के कुल 3.65 लाख बिजली उपभोक्ताओं के परिसर में मीटर लगाये जायेंगे। इसके बाद धनबाद और जमशेदपुर में इसे लगाने का काम शुरू किया जायेगा। कुल 15 लाख शहरी उपभोक्ताओं के परिसर में स्मार्ट मीटर लगाए जायेंगे।