Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Friday, June 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडदक्षिणी छोटानागपुर

PLFI के छह उग्रवादी गिरफ्तार, हथियार व अन्य सामान बरामद

खूंटी : प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के छह उग्रवादियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर एक बड़ी सफलता हासिल की है। गिरफ्तार उग्रवादियों में सिमडेगा जिले के सावटोली निवासी आनंद सिंह, रनिया थाना के बनिया टोला निवासी जॉनसन बारला, जरियागढ़ थाना क्षेत्र के बकसपुर साके टोली निवासी गौतम गोप, लखन गोप और उदित गोप, रनिया थाना क्षेत्र के मरचा बनिया टोली निवासी प्रकाश साहू शामिल हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

तोरपा थाना में सोमवार को आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसपी अमन कुमार ने बताया कि रविवार को उन्हें गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि रनिया थाना और सिमडेगा जिले के महाबुआंग थाना के सीमावर्ती ग्राम कोटांगेर, मेरोमबीर, गोहारम तथा ओलहान, बेडा ईरंगे में प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के सक्रिय उग्रवादी भ्रमणशील हैं और किसी उग्रवादी घटना को अंजाम देनेवाले हैं।

एसपी के निर्देश पर तोरपा के अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी ओम प्रकेाश तिवारी के नेतृत्व में पुलिस निरीक्षक तोरपा अंचल दिग्विजय सिंह, सीआरपीएफ 94 बटालियन सोदे, खूंटी तथा सिमडेगा जिला पुलिस के पदाधिकारी और सशस्त्र बल का एक संयुक्त छापामारी दल का गठन किया गया।

छापामारी दल ने त्वरित कार्रवाई करते हुए रनिया थाना क्षेत्र के गोहारम से सरिता जानेवाली सड़क के पास एक चट्टान पर पीएलएफआई के दो सक्रिय उग्रवादियों को देसी कट्टा, गोली, पीएलएफआई का पर्चा और चंदा रसीद के साथ गिरफ्तार किया गया। पकड़े गये उग्रवादियों ने स्वीकार किया कि उन्होंने अपने साथियों के साथ मिलकर 18 जनवरी की रात में सिमडेगा जिले के ओडगा में स्टेशन के पास रेलवे के काम में लगी जेसीबी, टैंकर और पोकलेन मशीन में आग लगाई थी।

गिरफ्तार उग्रवादयिों की निशानदेही पर रनिया थाना क्षेत्र से पीएलएफआई के अन्य सक्रिय सदस्य को संगठन के सुप्रीमो दिनेश गोप से संपर्क किये जानेवाले मोबाइल फोन, गोली, पीएलएफआई पर्चा, चंदा रसीद तथा जरियागढ़ थाना के बकसपुर क्षेत्र से अन्य तीन सक्रिय सदस्यों को कमांडर तिलकेश्वर गोप से संपर्क किये जानेवाले मोबाइल फोन, देसी कट्टा, गोली, पर्चा और चंदा रसीद के साथ गिरफ्तार किया गया। इस संबंध में रनिया और जरियागढ़ थाना में मामला दर्ज किया गया है।

एसपी ने बताया कि गिरफ्तार सभी उग्रवादियों का आपराधिक इतिहास रहा है। उन्होंने बताया कि उग्रवादी लखन गोप के खिलाफ हत्या, आर्म्स एक्ट, उग्रवादी घटना सहित अन्य संगीन मामलों को लेकर जरियागढ़ और कर्रा थाने में 20 मामले दर्ज हैं। पुलिस कों लंबे समय से उसकी तलाश थी।

खूंटी पीएलएफआई उग्रवादी गिरफ्तार