Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड: लापरवाही और अनुशासनहीनता के मामले में कई प्रधानाध्यापक और शिक्षकों को कारण बताओ नोटिस जारी, 14 शिक्षकों का रुका वेतन

रांची : राज्य शिक्षा परियोजना निदेशक आदित्य रंजन के निर्देशानुसार गठित राज्यस्तरीय अनुश्रवण दल के पदाधिकारियों ने मंगलवार को दूसरे दिन भी राज्य के विभिन्न जिलों के सरकारी स्कूलों का औचक निरीक्षण किया। प्रयास सह प्रोजेक्ट इंपैक्ट (एनईपी) के निरीक्षण में गये पदाधिकारियों द्वारा दूसरे दिन लापरवाही बरतने एवं राज्य शिक्षा परियोजना के निर्देशों की अवहेलना करने के मामले में कई शिक्षकों और स्कूलों के एचएम को शोकॉज नोटिस जारी किया गया है।

जिलेवार समीक्षा के दौरान पदाधिकारियों ने शिक्षकों, प्रधानाध्यापकों और वार्डन को स्कूलों में प्रोजेक्ट इंपैक्ट के अनुपालन में लापरवाही बरतने के मामले में फटकार लगाते हुए 15 दिन के अंदर स्कूलों की स्थिति में सुधार लाने का निर्देश दिया। राज्यस्तरीय अनुश्रवण दल के अभियान की मॉनिटरिंग करते हुए राज्य शिक्षा परियोजना निदेशक आदित्य रंजन ने लापरवाही बरत रहे स्कूलों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की अनुशंसा करने का निर्देश दिया है। साथ ही निरीक्षण के बाद स्कूलों में बदलाव की समीक्षा का भी निर्देश दिया है। राज्य शिक्षा परियोजना निदेशक द्वारा निरीक्षण किये गये स्कूलों में कार्य प्रगति का मई माह में पुनः आंकलन कर रिपोर्ट देने का निर्देश दिया गया है।

जिलावार अनुश्रवण कर रहे पदाधिकारियों ने चार स्कूलों के एचएम के विरुद्ध कदाचार और अनुशासनहीनता के मामले में कार्रवाई की अनुशंसा राज्य शिक्षा परियोजना निदेशक को भेज दी है। जिन स्कूलों के विरुद्ध कार्रवाई की अनुशंसा भेजी गयी है, उनमें जिला स्कूल (दुमका), आरके माध्यमिक स्कूल (नाला), राजकीयकृत प्लस टू उच्च विद्यालय, भंडरिया (गढ़वा), प्लस टू हाई स्कूल (गिरिडीह) शामिल हैं। चारों स्कूलों के एचएम के विरुद्ध शोकॉज जारी कर दिया गया है।

कार्य में लापरवाही बरतने और निर्देशों की अवहेलना करने के मामले में राजकीयकृत प्लस टू उच्च विद्यालय, भंडरिया (गढ़वा) के 14 शिक्षकों के वेतन को अगले आदेश तक रोकने का आदेश दिया गया है। इस स्कूल के एचएम के विरुद्ध भी कार्रवाई की गयी है। औचक निरीक्षण के दौरान टीम ने इन्हें शैक्षणिक कदाचार के मामले में दोषी पाया। निरीक्षण के दौरान स्कूल में मौजूद सभी शिक्षक कक्षा संचालन के बजाय प्रभारी प्रधानाध्यापक के कक्ष में गप मारते देखे गये। जबकि कक्षा 12 में उपस्थित केवल 8 छात्रों को एक शिक्षिका द्वारा पढ़ाया जा रहा था। सभी शिक्षकों के विरुद्ध अनुशासनहीनता के मामले में रिपोर्ट भेजी गयी, जिसके बाद एक्शन लेते हुए राज्य शिक्षा परियोजना द्वारा सभी 14 शिक्षकों एवं प्रभारी प्रधानाध्यापक के वेतन को अगले आदेश तक रोकने का आदेश जारी किया गया है। इन शिक्षकों के विरुद्ध नियमानुसार विभागीय कार्रवाई भी सुनिश्चित करने का आदेश दिया गया है।

सिमडेगा टीम ने निरीक्षण के दौरान पाया कि एसएस 2 मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय में टाइल्स, ग्रिल, वायरिंग का जीर्णोद्धार आवश्यक है। इस संदर्भ में राज्य अनुश्रवण पदाधिकारियों ने स्कूल को विद्यालय के जीर्णोद्धार का निर्देश दिया, साथ ही विद्यालय की समुचित ढलाई के लिए भी कहा गया है।

विभिन्न जिलों में औचक निरीक्षण के लिए गए राज्यस्तरीय अनुश्रवण पदाधिकारियों के साथ वर्चुअल बैठक कर राज्य शिक्षा परियोजना निदेशक आदित्य रंजन ने कहा कि लापरवाही बरत रहे स्कूलों के विरुद्ध किसी तरह की कोई नरमी ना करते। उन्होंने पदाधिकारियों से निरीक्षण किये गये विद्यालयों में पुनः औचक निरीक्षण कर दिये जा रहे निर्देशों की निगरानी का आदेश दिया। आदित्य रंजन ने कहा कि स्कूलों के शिक्षकों और एचएम के भीतर यह भाव आना आवश्यक है कि वे किसी भी हाल में बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं कर सकते।

मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय साकची जमशेदपुर, प्लस टू राजकीयकृत उच्च विद्यालय भंडरिया गढ़वा, जवाहर बालिका आवासीय विद्यालय धनबाद, प्लस टू आदर्श बालिका विद्यालय, पोखरिया साहिबगंज, प्लस टू हाई स्कूल गोमिया बोकारो, राजकीयकृत प्लस टू चुन्नीलाल उच्च विद्यालय लोहरदगा, आरके प्लस टू हाई स्कूल नाला जामताड़ा जिला स्कूल, दुमका, नेताजी सुभाषचंद्र बोस आवासीय विद्यालय सरयू लातेहार, एसएस बालिका प्लस टू उच्च मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय गुमला, एसएस प्लस टू स्कूल सिमडेगा, जिला मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय गुमला, जिला मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय धनबाद, मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय बर्मामाइंस प्लस टू उच्च विद्यालय गिरिडीह, मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय पचंबा, गिरिडीह, कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय भंडरिया गढ़वा, कस्तूरबा गांधी बालिका मुख्यमंत्री उत्कृष्ट विद्यालय लोहरदगा, एसएस प्लस टू हाई स्कूल, रनिया खूंटी, प्लस टू उच्च विद्यालय गारू लातेहार, कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय पालोजोरी देवघर और कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय कुजरा लोहरदगा।

Jharkhand education Department News