Breaking :
||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान||लातेहार: बालूमाथ में फिर एक विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी

चतरा में TSPC के सब-जोनल कमांडर समेत सात उग्रवादी गिरफ्तार, अत्याधुनिक हथियार बरामद, दिलशेर हत्या में था शामिल

चतरा : चतरा जिले की पिपरवार थाना क्षेत्र से पुलिस ने प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन TSPC के सब जोनल कमांडर सहित सात उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से एक सेमी ऑटोमेटिक पिस्टल, 21 गोली, दो कट्टे, लेवी के 98 हजार रुपये, एक बाइक, आठ नक्सली पर्चे व अन्य इलेक्ट्रॉनिक उपकरण बरामद हुए हैं।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

प्रेस वार्ता में एसपी राकेश रंजन ने बताया कि गिरफ्तार उग्रवादियों में सब जोनल कमांडर अनूप जी उर्फ छोटू राम उर्फ राजेंद्र भूषण, सुनील उरांव, नंदलाल मुंडा, अर्जुन मानकी, चिरंजीवी कुमार झा, संजय भुइयां, वीरेंद्र उरांव शामिल हैं।

उन्होंने बताया कि 14 दिसंबर की रात पिपरवार थाना क्षेत्र के बेहरा गांव में एक कोयला व्यवसायी के घर फायरिंग की घटना हुई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए टंडवा एसडीपीओ शंभू कुमार सिंह के नेतृत्व में स्पेशल टास्क फोर्स (एसआईटी) का गठन किया गया।

एसपी ने बताया कि एसआईटी ने मामले का खुलासा करते हुए TSPC के सात सक्रिय सदस्यों को गिरफ्तार किया है।

लातेहार जिले के कुसमाही साइडिंग में दिलशेर खान की हत्या में भी अनूप की अहम भूमिका थी। इसके अलावा उसने पिपरवार थाना क्षेत्र के कोयला कारोबारियों-ठेकेदारों को लेवी के लिए धमकाने में भी अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

TSPC सब-जोनल कमांडर के खिलाफ आठ मामले जबकि सुनील उरांव के खिलाफ चार मामले पहले से दर्ज हैं।

एसपी ने बताया कि एसआईटी टीम में पिपरवार थाना क्षेत्र के गोविंद कुमार, विवेक कुमार, कन्हैया कुमार यादव, रूपेश कुमार महतो, विशाल कुमार, कृष्ण प्रसाद सहित सशस्त्र बल शामिल थे।