Breaking :
||लातेहार: लापरवाह वाहन चालक हो जायें सावधान! कल से पुलिस चलायेगी जिलेभर में सघन वाहन चेकिंग अभियान||झारखंड की नाबालिग लड़की के साथ अमानवीय व्यवहार करने वालों के खिलाफ मुख्यमंत्री ने दिये सख्त कार्रवाई के आदेश||लातेहार: बालूमाथ में ट्यूशन पढ़ाकर घर लौट रहे शिक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत||हेमंत सरकार ने खिलाड़ियों के सर्वांगीण विकास को लेकर की जोहार खिलाड़ी स्पोर्ट्स इंटीग्रेटेड पोर्टल की शुरुआत, खिलाड़ियों की समस्याओं के निराकरण में होगा सहायक||रामगढ़, चतरा व लातेहार में कोयला कारोबारियों पर जानलेवा हमला करने वाले TSPC के चार उग्रवादी गिरफ्तार, एक लातेहार का||अब राज्य के सरकारी शिक्षकों को ‘लीव मैनेजमेंट मॉड्यूल’ के माध्यम से ही मिलेगी छुट्टी, अन्य माध्यमों से दिये गये आवेदन होंगे रद्द||लातेहार: बालूमाथ में हुई विवाहिता हत्याकांड का खुलासा, चार अभियुक्तों ने मिलकर की थी बेरहमी से हत्या||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान

धनबाद: बेटे को फांसी से लटका देख बूढ़ी मां ने कुएं में लगाई छलांग, दोनों की गयी जान

धनबाद : जिले के झरिया थाना क्षेत्र के फुलारीबाग में शुक्रवार की सुबह मां-बेटे ने आर्थिक तंगी और पारिवारिक विवाद के चलते आत्महत्या कर ली। इसकी खबर जंगल में आग की तरह फैल गई। बेटे तारापदो नंदी (50) ने जहां अपने कमरे की रेलिंग में फंदा बनाकर फांसी लगा ली, वहीं उसकी मां छबी देवी (80) ने कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली।

सूचना मिलने के बाद झरिया पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों के शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। दोनों शवों का अंतिम संस्कार मोहलबनी मुक्तिधाम में किया गया। राहुल कुमार ने पिता और दादी के पार्थिव शरीर को जलाया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

स्थानीय लोगों ने पुलिस को बताया कि तारापदो नंदी का परिवार मंगल सिंह के मकान में दो साल से किराए पर रह रहा है। वह शंख और चूड़ी बाँटकर परिवार का भरण पोषण करता था। कोरोना काल में उनका धंधा चौपट हो गया और आर्थिक संकट बढ़ गया। उसके बाद पत्नी नमिता नंदी दूसरे के घरों में बर्तन धोने का काम करने लगी।

इस दौरान उन्होंने अपनी बड़ी बेटी अंजलि की शादी भी की। आर्थिक कमी के कारण तारापदो अत्यधिक शराब का सेवन करना शुरू कर दिया। बच्चों की परवरिश को लेकर उनकी पत्नी नमिता देवी का अक्सर उनसे झगड़ा हो जाता था।

बताया जाता है कि गुरुवार की शाम तारापदो शराब पीकर घर आया था। पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। इस दौरान तारापदो ने पत्नी की जमकर पिटाई कर दी। उसके बाद नाराज होकर पत्नी अपने बच्चों सहित धनबाद में अपने एक रिश्तेदार के यहां चली गई।

शुक्रवार की सुबह जब पड़ोस की एक महिला पास के कुएं में पानी लेने गई तो उसने छबी देवी का शव पानी में तैरता देखा। इसके बाद महिला ने शोर मचाया तो आसपास के लोग जमा हो गए। बहू नमिता देवी और झरिया पुलिस भी पहुंच गई। उसके बाद मां के शव को कुएं से बाहर निकाला गया।

नमिता रोते हुए अपने घर गई तो वहां का हाल देख हैरान रह गई। घर का मुख्य दरवाजा खुला था। अंदर पति भी रेलिंग से लटक रहा था। उनकी मृत्यु हो गई थी। उसके बाद नमिता के शोर पर आसपास के लोग घर में घुसे और शव को नीचे उतारा।

तारापदो नंदी के परिवार में पत्नी नमिता, बेटा राहुल कुमार (16), बड़ी बेटी अंजलि देवी और छोटी बेटी रिया कुमारी (14) हैं। चर्चा है कि मां छबी देवी ने अपने बेटे को घड़े के सहारे रेलिंग पर लटका देख कुएं में कूदकर आत्महत्या कर ली। पुलिस मामले की तहकीकात कर रही है।

पोस्टमार्टम के बाद मां-बेटे का शव पहुंचते ही मोहल्ले में कोहराम मच गया। पत्नी नमिता देवी और बड़ी बेटी अंजलि देवी दहाड़ मारकर रोने लगीं। इस दौरान दोनों कई बार बेहोश भी हुए। पड़ोस की महिलाएं पानी छिड़क कर उन्हें होश में ला रही थीं।