Breaking :
||दुमका में फिर पेट्रोल कांड, प्रेमिका और उसकी मां पर पेट्रोल डाल कर प्रेमी ने लगायी आग||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में चार नक्सली ढेर, शव बरामद||UP राज्यसभा चुनाव में BJP के आठों उम्मीदवारों ने की जीत हासिल||माओवादी टॉप कमांडर रविंद्र गंझू के दस्ते का सक्रिय सदस्य ढेचुआ गिरफ्तार||पलामू: तूफान और बारिश ने मचायी तबाही, दो छात्रों की मौत, कहीं गिरे पेड़ तो कहीं ब्लैकआउट||झारखंड के 4 IAS अधिकारियों का तबादला, JPSC के सचिव का भी हुआ ट्रांसफर||झारखंड में 23 IPS अफसरों का तबादला, अंजनी अंजन बने रांची के ग्रामीण एसपी||पलामू: ग्रामीण डॉक्टर का अपहरण, मरीज को दिखाने के बहाने क्लिनिक में आये थे अपराधी||Jharkhand Budget: बाबूलाल मरांडी ने कहा- बजट में जन कल्याणकारी योजनाओं का समावेश नहीं||विधानसभा में 1.28 लाख करोड़ का बजट पेश, 2 लाख तक के कृषि ऋण होंगे माफ़, जानिये सरकार की अन्य घोषणायें
Wednesday, February 28, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरचतराझारखंड

चतरा: माओवादी सैक सदस्य गौतम पासवान के दस्ते से हुई थी सुरक्षाबलों की मुठभेड़, भारी मात्रा में सामान बरामद

चतरा : चतरा-पलामू सीमा स्थित कुटिल-जोबिया जंगल में सोमवार को सर्च ऑपरेशन के दौरान सुरक्षाबल और नक्सलियों के बीच सीधी मुठभेड़ हुई। करीब दो घंटे तक चली मुठभेड़ में दोनों ओर से रूक-रूक कर फायरिंग होती रही। इस दौरान सुरक्षा बलों ने छह स्लिपिंग बैग, 10 तिरपाल, बहुत मात्रा में दवाई और इंजेक्शन, पिट्ठू बैग, रेडियो और दैनिक उपयोग के सामान बरामद किए।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

चतरा एसपी राकेश रंजन ने बताया कि सूचना मिली थी कि प्रतिबंधित भाकपा माओवादी संगठन के सैक सदस्य गौतम पासवान, रिजनल कमांडर नवीन यादव और 10 लाख के इनामी जोनल कमांडर मनोहर गंझू किसी बड़ी दुर्घटना को अंजाम देने के लिए 20 से 25 की संख्या में कुंदा और लावालौंग के जंगली क्षेत्र में एकत्रित हुए हैं।

सूचना के आधार पर एक टीम का गठन किया गया, जिसमें चतरा पुलिस, कोबरा 203, सीआरपीएफ 190/22 को शामिल किया गया। अभियान दल जैसे ही मरगड़हा जंगल पहुंचा, नक्सली फायरिंग करने लगे। पुलिस बल ने जवाबी कार्रवाई करते हुए फायरिंग की। भाकपा माओवादी जंगल का लाभ उठाकर भाग निकले। माओवादी कैंप को सुरक्षा बलोंं ने नष्ट कर दिया।

एसपी ने कहा कि सरकार ने राज्य को नक्सल मुक्त बनाने का संकल्प लिया है। इसके आधार पर नक्सलियों के खिलाफ लगातार चौतरफा कार्रवाई की जा रही है। इसके तहत पुलिस को नक्सली संगठन के खिलाफ लगातार सफलताएं मिल रही हैं। उन्होंने कहा कि नक्सली झारखंड पुलिस के आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति नयी दिशा का लाभ लेकर मुख्यधारा से जुड़े, अन्यथा कड़ी से कड़ी कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

चतरा में नक्सली मुठभेड़