Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपटनाबिहार

RJD नेता सुभाष यादव को ED ने किया गिरफ्तार, लालू यादव के माने जाते हैं करीबी, 2 करोड़ कैश बरामद

RJD Leader Subhash Yadav Arrested

ईडी ने सुभाष यादव के 8 ठिकानों पर छापेमारी की थी। ये छापेमारी करीब 14 घंटे तक चली। इस दौरान ईडी को उनके दानापुर स्थित आवास से 2 करोड़ रुपये कैश और अकूत संपत्ति से जुड़े कई दस्तावेज भी बरामद हुए। पेशी के बाद सुभाष यादव को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

पटना : बिहार में अवैध बालू कारोबार के खिलाफ ईडी ने बड़ी कार्रवाई की है। ईडी की टीम ने राजद नेता सुभाष यादव के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया है। सुभाष यादव लालू प्रसाद यादव के करीबी माने जाते हैं और अवैध बालू कारोबार से जुड़े हैं। शनिवार देर रात ईडी ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

शनिवार 9 मार्च को ईडी ने सुभाष यादव के 8 ठिकानों पर छापेमारी की। ये छापेमारी करीब 14 घंटे तक चली। इस दौरान ईडी को उनके दानापुर स्थित आवास से 2 करोड़ रुपये कैश के अलावा संपत्ति से जुड़े कई दस्तावेज भी मिले, जिन्हें ईडी ने जब्त कर लिया है। सुभाष यादव के खिलाफ पटना में अवैध बालू खनन को लेकर मामला दर्ज किया गया है। पेशी के बाद सुभाष यादव को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

ईडी ने बयान जारी कर कहा कि सुभाष यादव को अवैध खनन मामले में पीएमएलए के तहत गिरफ्तार किया गया है। ईडी ने बताया कि पटना में राजद नेता के 6 ठिकानों पर छापेमारी की गयी। इस दौरान करीब 2 करोड़ 30 लाख रुपये नकद बरामद किये गये और अवैध खनन से जुड़े कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी जब्त किये गये। ईडी ने सुभाष यादव के अलावा उनके करीबियों के ठिकानों पर भी छापेमारी की थी।

ईडी ने यह कार्रवाई मेसर्स ब्रॉडसन कमोडिटीज प्राइवेट लिमिटेड यानी बीसीपीएल और उसके निदेशकों के खिलाफ बिहार पुलिस में पहले से दर्ज 20 एफआईआर के आधार पर की है। ईडी की जांच में पता चला कि कंपनी के निदेशक अवैध खनन और बिना ई-चालान के रेत की बिक्री में लगे हुए थे। बताया जा रहा है कि रेत के इस अवैध खनन में करीब 161 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ है।

इसके अलावा जांच में यह भी पता चला कि इस अवैध खनन से जुड़ा सिंडिकेट, जो इस कंपनी में निवेश कर रहा था और अवैध खनन के जरिये लाभ ले रहा था, वह कोई और नहीं बल्कि POC है। बताया जा रहा है कि इस सिंडिकेट यानी BPCL में सुभाष यादव की अहम भूमिका थी। इस मामले में ईडी पहले ही बीएसपीएल कंपनी के निदेशकों और सिंडिकेट में शामिल राधाचरण शा और उनके बेटे को गिरफ्तार कर चुकी है।

आपको बता दें कि सुभाष यादव ने 2019 में राजद के टिकट पर झारखंड के चतरा से लोकसभा चुनाव लड़ा था। वह राजद सुप्रीमो लालू यादव के करीबियों में से एक माने जाते हैं। सुभाष यादव के खिलाफ पटना में अवैध बालू खनन के मामले दर्ज हैं। माना जा रहा है कि सुभाष यादव बिहार में अवैध बालू खनन का कारोबार चलाता है। इससे पहले आयकर विभाग ने भी उनके ठिकानों पर छापेमारी की थी।

सूत्रों के मुताबिक, सुभाष यादव की छवि बाहुबली की भी है, उसे गिरफ्तार करना बहुत आसान नहीं था। सुभाष यादव से पूछताछ में कुछ बड़े खुलासे हो सकते हैं। इसने कई बड़े लोगों को फाइनेंस भी किया है। यह भी बात सामने आ रही है कि वह इस बार भी चुनाव लड़ने की योजना बना रहा था।

RJD Leader Subhash Yadav Arrested