Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Saturday, June 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: पुरखों की जमीन की रक्षा के लिए रैयतों ने निकाली भूमि अधिकार न्याय यात्रा, कहा- फर्जी ग्रामसभा रद्द हो

Latehar land rights justice march

लातेहार : पुरखों की जमीन की रक्षा के लिए भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति के अध्यक्ष गुर्जर उरांव की अध्यक्षता में भूमि अधिकार न्याय यात्रा निकाली गयी। अपनी जमीन की रक्षा के लिए लातेहार के रैयतों ने नीलांबर पीतांबर स्थल जोगनाटांड़ में उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद पैदल मार्च करते हुए होटवाग, डुडंगी कला, करकट, मुख्य शहर से होते हुए समाहरणालय पहुंचे। वहां पहुंचकर यात्रा एक सभा में तब्दील हो गयी।

सभा को संबोधित करते हुए जिला परिषद अध्यक्ष पूनम देवी ने कहा कि हम सभी रैयतों को जमीन तभी देंगे, जब हमारी मांगें पूरी होंगी। हमारी मुख्य मांगों में 2016-17 तक रसीद को ऑनलाइन करना, भूमि अधिग्रहण के दौरान ली गयी जमीन का मुआवजा बाजार दर पर देना, फर्जी ग्रामसभा को रद्द करना आदि शामिल हैं।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

सभा को संबोधित करते हुए आंदोलनकारी नेता प्रमोद पांडे ने कहा कि भ्रष्ट अधिकारी सुधर जाएं, आपकी दलाली नहीं चलेगी। हम अपनी जान देने को तैयार हैं लेकिन हम अपनी जमीन लूटने नहीं देंगे।’

मुखिया अनिता देवी ने कहा कि हम संघर्ष से डरने वाले नहीं हैं, हमारी आवाज को कोई दबा नहीं सकता। हम तब तक लड़ेंगे जब तक हमें न्याय नहीं मिल जाता और हम हर कदम पर अपने लोगों के साथ खड़े हैं।’

सुरेंद्र पासवान ने कहा कि ओवर ब्रिज का निर्माण वहां के निवासियों की सहमति के बाद ही होना चाहिए।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भूमि अधिग्रहण संघर्ष समिति अध्यक्ष गुर्जर उरांव ने कहा कि ग्राम सभा की सहमति के बिना हमारी जमीन कैसे ली जा सकती है, इसके लिए ग्राम सभा में सहमति लेनी होगी।

संयोजक वीरेंद्र प्रसाद ने कहा कि देश आजाद हो गया लेकिन लगता है कि अब तक अंग्रेजों के काले कानून ही लागू हैं।

सभा के अंत में उपायुक्त के नाम अनुमंडल पदाधिकारी को एक एक पांच सूत्री मांग पत्र सौंपा गया। इस कार्यक्रम में विधायक प्रतिनिधि हरिशंकर यादव, लक्ष्मण यादव, जिला परिषद सदस्य विनोद उरांव, पांडेपूरा मुखिया संजय उरांव, बसंत यादव, रमेश उरांव, विजय यादव, आबिद अंसारी, अब्बास अंसारी, सुकु राम, नरेश उरांव, मिथिलेश पासवान, ज्योति प्रकाश दुबे, श्याम किशोर दुबे, रंजीत यादव, इरफान खान, जीनू सिंह, केदार प्रसाद, विजय सिंह, कलावती देवी, सुमन देवी, उर्मिला देवी, रंजीत यादव, विजय यादव सहित हजारों की संख्या में रैयत उपस्थित थे।

Latehar land rights justice march