Breaking :
||भाजपा प्रदेश प्रवक्ता का इंडी गठबंधन पर हमला, कहा- कोड वर्ड के जरिये बेच दिया झारखंड को||टेंडर कमीशन देने में पांकी के ठेकेदार का भी नाम : शशिभूषण मेहता||टेंडर घोटाले की जांच में पूर्व मंत्री आलमगीर आलम नहीं कर रहे सहयोग : ED||पांचवें चरण में 63.21 फीसदी वोटिंग, पुरुषों से ज्यादा रही महिलाओं की भागीदारी||गढ़वा: शादी समारोह में शामिल होने जा रही मां-बेटी की सड़क हादसे में मौत, बेटा और बेटी की हालत नाजुक||झारखंड: स्कूलों में शत प्रतिशत नामांकन को लेकर राज्य शिक्षा परियोजना गंभीर, लापरवाही बरतने पर होगी कार्रवाई||टेंडर कमीशन घोटाला मामला: ED ने अब IAS मनीष रंजन को पूछताछ के लिए बुलाया||मतदान केंद्र में फोटो या वीडियो लेना अपराध, की जा रही है कार्रवाई : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी||लातेहार: बालूमाथ में बाइक दुर्घटना में एक युवक की मौत, दूसरा गंभीर, रिम्स रेफर||गढवा: डोभा में नहाने के दौरान डूबने से JJM नेता के पोते समेत दो किशोरों की मौत
Wednesday, May 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडलसतबरवा

सतबरवा में रैयतों ने NHAI संवेदक के कर्मियों को बनाया बंधक, मौके पर पहुंची पुलिस

पलामू : जिले के सतबरवा प्रखंड के तुंबागड़ा में शनिवार को नेशनल अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एनएचएआई) में निर्माण करने वाली भारत वाणिज्य कंपनी के संवेदक के चार कर्मियों को रैयतों ने बंधक बना लिया। सूचना के बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने सभी को छुड़ाकर थाना ले गयी। रैयतों द्वारा आरोप लगाया गया कि संवेदक के सभी कर्मी गांव में जबरन जाकर लोगों को एलपीसी बनाने के लिए धमकी दे रहे थे। सूचना के बाद रैयत एकजुट हुए एवं विरोध किया और उन्हें आधे घंटे तक एक जगह पर बैठाकर रखा गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

थाना प्रभारी अंचित कुमार ने बताया कि एनएच बना रही कंपनी के कर्मियों ने मारपीट करने की जानकारी दी है। दो लाइंजनिंग ऑफिसर, एक सुपरवाइजर तथा एक वाहन का चालक शामिल है। इधर, पुलिस द्वारा संवेदक कर्मियों को थाना लाने की सूचना पर 200 से ज्यादा रैयत थाना पहुंचे थे। संवेदक एवं कर्मियों के खिलाफ पुलिस में लिखित शिकायत की। बताया गया कि इन कर्मियों को कई बार मना किया गया था कि रैयतों का मामला अपर समाहर्ता कोर्ट में चल रहा है। सरकार के निर्देश के बाद सभी लोग एलपीसी करा लेंगे, लेकिन रैयत की बातों को अनसुना करके कर्मी हमेशा नियम कानून को ताक पर रखकर रैयतों के घर पहुंच जाते थे।

कसियाडीह की वृद्धा एतवरिया कुंवर ने कहा कि हमर जमीन जाइत बात, जिकेर मुआवजा कम मिलत बा। इसी को लेकर हमलोग उपर के साहब के पास आवेदन दिए हैं। उसकी पोती संजू कुमारी, दुलसुलमा गांव के बृजभान सिंह, फूलचंद साव, जयनाथ साहू, गुलाब सिंह द्वारा बताया गया कि चारों कर्मी हम लोगों के घर पर जाकर बार-बार एलपीसी बनवाने की धमकी देते हैं। नहीं बनाने पर जमीन का मुआवजा नहीं देने की बात कह कर हमेशा धमकाते हैं। कहा जाता है कि जमीन भी जायेगी और केस करके फंसा देंगे।

Satbarwa Palamu Latest News